रहिमन नीचन संग बसे लगत कलंक न कहिं...दोहा-

राजनांदगाँव (छत्तीसगढ़) से विरेन्द्र गंधर्व दोहा के माध्यम से संदेश दे रहे हैं:
1 रहिमन नीचन संग बसे लगत कलंक न कहिं|
दूध कलारिन हाँथ लगे मद समझत हैं ताहीं||
2 रहिमन तीन प्रकार से हित अनहित पहचान |
परबस परे परोस बस परे माम न जान||

Posted on: Oct 12, 2021. Tags: EDUCATION SONG

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »


YouTube Channel




Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download