पीड़ितों का रजिस्टर: पहले नक्सली संगठन में काम करतें थे घर में परेशानी होने के कारण छोड़ना पड़ा...

ग्राम पंचायत-माकड़ी, तहसील-फरसगांव, जिला-कोंडागांव (छत्तीसगढ़) से मुकेश कवर बता रहे हैं, वे पहले नक्सलियों के साथ काम करते थे| पांच साल तक काम किये| फिर उनके घर में कोई देख रेख करने वाले कोई नहीं था| नहीं होने के कारण काम छोड़ दिया| जगदलपुर में आकर रहतें थे| फिर उन्हें नक्सलियों ने गोली लगायें| हाथ में दो गोली लगा था| उनके इलाज़ के लिए लगभग 27.000 रूपयें लगा| सरकारी शिक्षा विभाग से 20. 000 रुपयें सहयोग राशी मिला था| वर्तमान में वे गोपनीय सैनिक में काम करतें हैं| महिना में 12.000 रुपयें मिलता हैं| वे लोग 4 परिवार हैं| उनका खेती बाड़ी हैं, लेकिन गांव में जा नहीं पाते हैं, क्योंकि गांव में नक्सलियों के कारण नहीं जा पाते हैं| अभी उन्हें घर चलाने में परेशानी होता हैं| अधिक जानकरी के लिए सम्पर्क नंबर@9399259424.

Posted on: Nov 07, 2021. Tags: CG KONDAGANV MUKESH KAWAR VICTIM REGISTER

पीडितो का रजिस्टर : मुझे नक्सली समझकर जेल ले गये, 3 महीने तक जेल में था, कोई मदद नहीं मिली...

ग्राम-बुसकी, तहसील-दुर्गकोंदल, जिला-उतर बस्तर कांकेर (छत्तीसगढ़) से मसीहराम उसेण्डी बता रहे हैं कि 2008 में पुलिस वाले घर से उठाकर ले गए और नक्सली केश बता कर जेल में डाल दिए, तीन महिना जेल में था| फिर जमानत करा दिराए परिवार वाले, 20 से 25 वर्ष की उम्र में फिर 2013 में फिर से जेल हुआ| एक साल 6 दिन जेल में था, घर में परिवार वाले भी बहुत परेशानी में थे| पिताजी भी बीमार था, बच्चे और पत्नी घर में थे|

Posted on: Nov 06, 2021. Tags: CG KANKER MASIHRAM USENDI VICTIM REGISTER

पीड़ितों का रजिस्टर: पिता के गिरफ़्तारी के बाद परिवार को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा|

ग्राम-निबरा, पंचायत-भैंसगांव, ब्लाक-अंतागढ़, जिला-उत्तरबस्तर कांकेर (छत्तीसगढ़) से दसरथ गावड़े बता रहे हैं कि उनके पिता का नाम शुक्लू था जिन्हें नक्सली समझ कर पुलिस ने गिरफ्तार किया था| शुक्लू अपने घर में अकेले कमाने वाले व्यक्ति थे, उनकी गिरफ़्तारी के बाद परिवार को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा| सरकार ने उनकी कोई मदद नही की है| अधिक जानकारी के लिए संपर्क@9406464239. (185370) GT

Posted on: Oct 28, 2021. Tags: DASRAT GAWADE KANKER CG VICTIM REGISTER

पीड़ितों का रजिस्टर: बच्चों की शिक्षा के लिए सरकार से नौकरी कि मांग है...

ग्राम-सुलंगी, ब्लॉक-कोयलिबेड़ा, ज़िला-कांकेर, छत्तीसगढ़ से उर्मिला उसेंडी बता रही हैं कि उनके पति, सुम्मत उसेंडी की 2013 में नक्सलियों ने हत्या कर दी थी। हत्या का कारण आज तक नहीं पता चला। हत्या के बाद सरकार की तरफ से उन्हें रु 8 लाख की राशि की मदद मिली। मगर वे चाहती हैं उन्हें एक नौकरी भी मिलनी चाहिए और पास के शहर में रहने के लिए एक जगह। इन चीजों की मदद से वे अपने बच्चों को शिक्षा और एक अच्छा बचपन दने की उम्मीद रखती है। संपर्क नंबर@6264039214.

Posted on: Oct 27, 2021. Tags: CG KANKER KOYLIBEDA MAOIST VICTIM URMILA USENDI VICTIM REGISTER

पीड़ितों का रजिस्टर: अनुकंपा में पिउन की नौकरी मिली, योग्यता के अनुसार पद मिलना चाहिए...

कल्याणी मानिकपुरी, नगर पंचायत दाँतेवाड़ा, जिला-दाँतेवाड़ा, छत्तीसगढ़ से बता रही हैं कि उनके पति रमेश मानिकपुरी, जो की ठेकेदार थे, को माओवादियों ने मार दिया था। उनके पति की मौत के पहले वे लोग ग्राम पंचायत केरलापाल, जिला सुकमा में रहते थे। उनके पति के मरने के बाद उन्हें सरकार से रु. 1 लाख मुआवजा मिला था और अनुकंपा नियुक्ति में पिउन की नौकरी। लेकिन वे कहती हैं कि दूसरे लोगों को मिली मुआवजे की राशि रु. 4-5 लाख है। उनकी सरकार से मांग है कि उनके योग्यता के अनुसार उन्हें नौकरी मिले। इंदिरा आवास योजना के तहत जो 2 कमरे का मकान उन्हें मिलने वाला है, उसे वे ना बेच सकेंगे, ना छोड़ कर जा सकेंगे। इसीलिए वे चाहती हैं कि उस मकान के बदले उन्हें पैसे मिलें, जिसमें वे कुछ और पैसे जोड़ कर अच्छा घर बना पाएंगे। उनकी एक और मांग यह है कि उनके बच्चों की आगे की पढ़ाई के लिए फीस माफ कर दी जाए, ताकि उन्हें अच्छी से अच्छी शिक्षा मिल सके।

Posted on: Oct 27, 2021. Tags: DANTEWADA JOB KALYANI MANIKPURI KERLAPAL MAOIST VICTIM SUKMA VICTIM REGISTER

« View Newer Reports

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »


YouTube Channel




Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download