पीड़ितों का रजिस्टर: नक्सलियों ने पुलिस के मुखबिर समझकर जान से मारने कि धमकी दी गाँव छोड़कर भागे...

शांति नगर, जिला-नारायणपुर, (छत्तीसगढ़) धन सिंह पोट्टाई पिता चमरू राम बता रहे हैं कि वे लगभग 5 साल से नक्सल हिंसा से प्रताड़ित हैं| वे ग्राम अर्रा, ब्लाक-अन्तःगढ़, जिला-कांकेर के रहने वाले थे | नक्सलियों ने पहले उसके बड़े भाई अमृत लाल दर्रो और उसके दोस्त संतोष हुपेंदी को जान से मार दिए, उसी के रात उन्हे स्वयं को मारने वाले थे लेकिन वे किसी तरह अपना जान बचाकर भागने में कामयाब रहे इसलिए उनकी जान बची रही| उन्हें नक्सली पुलिस मुखबिर समझ कर मारना चाहता था| उन्हें अब भी वहां डर का माहोल बना हुआ है | उसके बाद वे पूरे परिवार सहित 2016 में नक्सलियों के डर के कारण अपना गाँव छोड़कर भाग के नारायणपुर शान्ति नगर में आ गये| वे अभी वहां के सरकारी जमीन में रह रहे हैं, जिसका कोई पट्टा सरकार नही दिया है| अब वे वापस अपने गाँव नही जाना चाहते हैं | किसी तरह मजदूरी करके अपना जीवन चला रहे हैं | संपर्क नबर@6266023635. MU

Posted on: Jan 13, 2021. Tags: VICTIMS REGISTER

« View Newer Reports