मूर्ख सेठ और उसके सिक्कों में सीलन की कहानी...

बहुत पहले की बात है, एक गाँव में एक सेठ रहता था वह बहुत कंजूस था साथ ही मूर्ख भी था उसे अपने जमा किए हुए सिक्को की गिनती तक नहीं की थी, अपने अनगिनत सिक्के के ढेर को देखकर वह बहुत खुश रहता था| बरसात का मौसम जब आया तो कई दिनों तक वर्षा होती रही, सेठ को बस इतनी सी बात पता थी कि बरसात के कारण सिक्को में सीलन लग जाती है. सेठ को चिंता सताने लगी उसके पास कई बोरे सिक्के भरे थे उसने सोचा मेरे सिक्को को सीलन ना लग जाए तो जैसे बरसात रुकी सेठ ने अपने मुनीम की चौकसी में छत पर डलवा दिए दूसरे दिन उसका वजन लिया पहले जितना था उतना ही वजन निकला सेठ ने सोचा अभी सीलन निकली नही है, मुनीम को निर्देश देकर फिर धूप में फैला दिए, अब तो रोज़ का काम ना वजन कम होता था ना सेठ धूप दिखाना छोड़ता था, मुनीम परेशान हो गया एक दिन तंग आकर मुनीम ने अपने अधीन कर्मचारी को बोला क्यों न एक-एक पोटली सिक्के अपने घर ले जाए कर्मचारी मान गया और अपने घर दोनों ले गयें दूसरे दिन सिक्के फिर तुलवाए अब वजन कम था सेठ खुश होकर बोला अब सीलन निकल गई, बोला अब इन्हें बोरे में भरकर कोठरी में रख दो.

Posted on: Apr 23, 2018. Tags: USHA SINGH

जीवन में सतत अभ्यास करने से व्यक्ति निपुण होता है, परीक्षा में प्रथम आने का राज...कहानी

राजीव व संजीव दोनों दोस्त एक साथ एक ही कक्षा में पढते थे, राजीव हमेशा प्रथम आता था. जबकि संजीव मुश्किल से पास होता था, संजीव को सब उलाहना देते थे उसके साथ रहते हो उससे कुछ सीखों भी, संजीव ने सोचा क्यों न राजीव से राज जाना जाए, संजीव ने राजीव से पूछा दोस्त तुम कैसे पढते हो प्रथम कैसे आते हो, राजीव ने मुस्कुराते हुए कहा दोस्त टीचर जो भी पढ़ाते है मै ध्यान लगाकर सुनता हूँ, जो लिखने का होता है उसे मै रोज़ घर आकर दोहराता हूँ. पढने के बाद उसका अभ्यास करता हूँ, राजीव की बात सुनकर संजीव बोला मैं भी लिखकर अभ्यास करूँगा. दोस्तों कहानी का अर्थ यह है कि अभ्यास करने से ही विषय की गहरी समझ हो पाती है.

Posted on: Apr 14, 2018. Tags: USHA SINGH UIKE

जय बोलो, जय बोलो भोले नाथ की, भक्ति में खो जाएं भोले नाथ की...भजन

ग्राम-रक्सा, पोस्ट-फुनगा, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से उषा सिंह एक भजन सुना रही हैं :
जय बोलो जय बोलो भोले नाथ की, भक्ति में खो जाएं भोले नाथ की-
आओ महिमा गाएं भोले नाथ की, भक्ति में खो जाएं भोले नाथ की-
मोहे पार लगा दे शिव भोले, बिगड़ी बना दे शिव भोले-
जय बोलो दीना नाथ की जय बोलो भोले नाथ की-
जय बोलो जय बोलो भोले नाथ की, भक्ति में खो जाएं भोले नाथ की...

Posted on: Mar 22, 2018. Tags: USHA SINGH

सुन दिल की पुकार हे गौरी के नाथ- भजन...

ग्राम-रक्सा, पोस्ट-फुनगा, जिला-अनुपपुर, मध्ययप्रदेश से उषा सिंह एक भजन सुना रहे हैं:
शिव भोले शिव भोले-
सुन दिल की पुकार हे गौरी के नाथ-
इन आँखों में मूरत तेरी-
मन के मंदिर में है सूरत है तेरी-
होंठो पे नाम है तेरा-
सुन दिल की पुकार-
सुन अविनाशी सुन कैलाशी सुन गौरी के नाथ...

Posted on: Mar 18, 2018. Tags: USHA SINGH

वो मैया वो मैया वो मैया...गीत

ग्राम-राजापुर, पोस्ट-लदवाही, जिला-टीकमगढ़ (म.प्र.) से मनोज कुशवाह एक गीत सुना रहे है:
वो मैया वो मैया वो मैया-
जंगल में विराजे बहन भैया-
सोने के लोटा में जल भर लिहाये-
पीवे न बहना पिवाये भैया-
जंगल में विराजे बहन भैया-
वो मैया वो मैया वो मैया...

Posted on: Feb 07, 2018. Tags: MANOJ KUSHAWAH

« View Newer Reports

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download