स्वास्थ्य स्वर : टीबी बीमारी का घरेलू उपचार-

ग्राम-रहेंगी, तहसील-लोरमी, जिला-मुंगेली (छत्तीसगढ़) से वैद्य चंद्रकांत शर्मा आज हमें टीबी बीमारी का घरेलू उपचार बता रहे हैं, इसे क्षय रोग के नाम से भी जाना जाता है, जो व्यक्ति टीबी बीमारी से ग्रषित हो, वे अडूसा के फूलो का चूर्ण 10 ग्राम और मिश्री 10 ग्राम दोनो को मिलाकर एक गिलास दूध में मिलाकर सुबह-शाम सेवन करें, लगातार 6 माह तक सेवन करने से आराम मिल सकता है, अडूसा के पत्ते का प्रयोग खांसी में भी किया जा सकता है, अधिक जानकारी के लिए दिए गए नंबर पर संपर्क कर सकते हैं : चंद्रकांत शर्मा@9893327457.

Posted on: Sep 12, 2018. Tags: CG CHANDRAKANT SHARMA MUNGELI SWASTHYA SWARA TB

आया मोचो दंतेश्वरी बुआ बयरमहाय...हल्बी गीत-

ग्राम-भोगाम, विकासखण्ड-दंतेवाडा, जिला-दंतेवाडा (छत्तीसगढ़) से तीजवती हल्बी भाषा में एक गीत सुना रही है:
आया मोचो दंतेश्वरी बुआ बयरमहाय-
बायदन कर बैन इंद्रावती सुंदर मोचो तुमके शरण-शरण हाय-
मै आय बस्तर जिला चो आदिवासी पीला-
बैलाडीला-बैलाडीला, बैलाडीला-बैलाडीला-
डका देईसे बारी उजर मोचो बस्तर कितलो सुंदर-
मछरी, चिरई आनी-बानी सयान सजन बड़ नानी...

Posted on: Aug 27, 2018. Tags: CHHATTISGARH DANTEWADA HALBI SITA PATBANDHI SONG

पिंजड़ा कर पोसल सुगा का बोली बोले नीरे...दोमकच विवाह गीत

ग्राम-पंचायत-भेलकच, थाना-रमकोला, तहसील-प्रतापपुर, जिला-सूरजपुर,(छत्तीसगढ़) से सीता रानी के साथ में सीता पटबंदी एक दोमकच विवाह गीत सुना रही है:
पिंजड़ा कर पोसल सुगा का बोली बोले नीरे-
ससुरारी जाबो रे रोवान खोसा दाखे-
धरती ला काट-काट चौरा छाववे नी-
झालर खुटो लो-लो हमर मढवा तनाय-
जलदी खिचाला हार पानी के हरियर-
बन दिखे हरियर सरसों के फूल पियर दिखे लाल...

Posted on: Feb 16, 2018. Tags: SEETA PATBANDI

तेदू फूल बना में...कर्मा गीत

ग्राम-भेलकच्छ, थाना-रमकोला, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से सीता पटबन्धी और सीता नेटी एक कर्मा गीत सुना रहे हैं :
तेदू फूल बना में तेदू फूल बना में रे – गोडे कर बिछिया गिर गले सना में रे – गोडे कर पयरि हर गिर गयले सना में रे...

Posted on: Feb 02, 2018. Tags: SITA NETI SITA PATBANDHI

लोख लोखड़ी लोकर कोषा न येना गाता हो नांद देवरों लोखड़ी...लोखड़ी गीत -

जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से सीता पट्बंदी लोखड़ी त्यौहार के उपलक्ष्य में एक लोखड़ी गीत सुना रही है:
लोख लोखड़ी लोकर कोषा न-
येना गाता हो नांद देवरों लोखड़ी-
ये छानी वो छानी दूर परेवा-
मोर परेवा न लागे ला लूँ खिलौना लोखड़ी-
काट लागन गेडाऊ घरत हमार दूरा लोखड़ी-
लोख लोखड़ी लोकर कोषा न-
येना गाता हो नांद देवरों लोखड़ी...

Posted on: Dec 31, 2017. Tags: SEETA PATBANDI

View Older Reports »