नारी तुम कितना महान, तेरा कैसे करूं बखान...नारी शक्ति पर गीत

ग्राम-झल्पी, जिला-बलरामपुर, छत्तीसगढ़ से अमरदीप नारी शक्ति पर एक गीत प्रस्तुत कर रहे हैं:
नारी तुम कितना महान, तेरा कैसे करूं बखान-
तेरे ही गोंद में खेले राम-कृष्ण-भगवान-
तेरा पद कितना महान, कैसे करूं बखान-
तुम श्रद्धा की मूरत हो, तुम प्रज्ञा की सूरत हो-
तुम ही निष्ठा कल्याणी, तुम ही देवी कात्यानी-
तेरी ममता जाने सकल जहान, तेरा कैसे करूं बखान-
नारी तुम कितना महान...

Posted on: May 01, 2018. Tags: SARLA SHRIWAS SONG VICTIMS REGISTER

हई रे दई रे नार नदी बहे ललकारी...सादरी भाषा में देशवारी गीत

ग्राम-बनौर, पंचायत-चित विश्रामपुर, जिला-बलरामपुर, छत्तीसगढ़ से शांती सादरी भाषा में एक देशवारी करमा गीत प्रस्तुत कर रही हैं जिसे भादौं के महीने में गाया जाता है:
हई रे दई रे नार नदी बहे ललकारी-
करी नदी बहे ललकारी-
बीच के नदी बहे घरी घरी रे-
करी नदी बहे ललकारी...

Posted on: Apr 30, 2018. Tags: SONG Sarla Shriwas VICTIMS REGISTER

ओथी रे पिपरा तारे सोनरा छनले दोकनियां छानी रे देले ना...सादरी भाषा में झूमर गीत

ग्राम-सूर्रा, जिला- बलरामपुर, छत्तीसगढ़ से सुमित्रा जी सादरी भाषा में एक झूमर गीत प्रस्तुत कर रही हैं, जिसे शादी के अवसर पर गाया जाता है:
ओथी रे पिपरा तरे सोनरा छनले दोकनियां छानी रे देले ना-
ऊजे सोनरा दोकनियां छानी रे देले ना-
घर में से बोललेन पतरी तिरियवा मोलावे लगलें ना-
ऊजे नाक के नथियवा मोलावे लागले ना-
जल्दी-जल्दी सोनरा भइया करा ना मोलइया रोवत होइहें ना-
हमार गोंदी के बालकवा रोवत होइहें ना...

Posted on: Apr 30, 2018. Tags: SARLA SHRIWAS SONG VICTIMS REGISTER

कृष्णा मारे गुलेल से फूटे गगरी, फूटे गगरी जी भींगे चुनरी...भोजपुरी गीत

ग्राम-धनेशपुर, पंचायत-विश्रामनगर, जिला-बलरामपुर, छत्तीसगढ़ से आशा कुमारी, ज्योति कुमारी, बिन्दू कुमारी व अनीता कुमारी एक क्षेत्रीय गीत प्रस्तुत कर रही हैं:
कृष्णा मारे गुलेल से फूटे गगरी, फूटे गगरी जी भींगे चुनरी-
घर में सासू पूछे बहुआ का बिगड़ी-
बिगड़ी से बिगड़ी हमार बिगड़ी-
राउर बेटा अलबेला की का बिगड़ी-
कृष्णा मारे गुलेल से फूटे गगरी...

Posted on: Apr 28, 2018. Tags: SARLA SHRIWAS SONG VICTIMS REGISTER

माटी ला छोड़ि तै कहां जाबे रे संगी, माटी के कर्जा चुकाना...छत्तीसगढ़ी गीत

जिला-बलरामपुर, छत्तीसगढ़ से सरला श्रीवास छत्तीसगढ़ी भाषा में एक माटी का गीत प्रस्तुत कर रही हैं:
माटी ला छोड़ि कहां जाना-
माटी ला छोड़ि तै कहां जाबे रे संगी, माटी के कर्जा चुकाना-
येही माटी माँ रे संगी खेले-कूदे है-
येही माटी मा मिल जाना-
माटी ला छोड़ि कहां जाना-
ये भूइयां के लालन बेटा, तै तो सिधवा नाम रे-
येही करम है येही धरम है येही गंगा धाम रे-
डोरी जिन टूटै रे संगी, बंधना जनि छूटै रे संगी-
भूइयां ले रिश्ता निभाना, हू लाला भूइयां रिश्ता निभाना-
माटी ला छोड़ि कहां जाना...

Posted on: Apr 15, 2018. Tags: SARLA SHRIWAS SONG VICTIMS REGISTER

« View Newer Reports

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »


YouTube Channel




Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download