तारती तारको कस तारा बैठेला आबे हमार पारा...विवाह गीत

ग्राम-हिरिचुआ, पंचायत-डेढ़खोह्का, ब्लाक-चारामा, जिला-कांकेर (छत्तीसगढ़) से सुशीला गावडे एक विवाह गीत सुना रही है:
तारती तारको कस तारा-
बैठेला आबे हमार पारा-
चना बहारा बैठेला आबे हिरिचुआ-
पुटू के बेकी बेकू का बे-
तोरे न के नगदेर वारी करिया वला बल्लू-
करिया वला बल्लू रे...

Posted on: Jan 31, 2018. Tags: SUSHILA GAWADE

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download