जल बिना डोंगिया, डोंगिया बिना नारी...गीत

ग्राम-कोटया, जिला-सरगुजा (छत्तीसगढ़) से मेवालाल देवांगन एक गीत सुना रहे हैं :
जल बिना डोंगिया, डोंगिया बिना नारी-
नारी बिना पुरुष, पुरुष बड़ा भारी-
गध-गध गीरे लोचन बहे नीरा-
प्रभु गुण गावथे फुल के शरीर-
राम जी ला पूछे रामन कर भोरे-
काहे कारन हवे धनुष काहे तोड़े-
उंचे पर्वत ले देखे रघुराई, बाली सुग्रीव दोनों मचे हे लड़ाई...

Posted on: Sep 14, 2018. Tags: CG MEWALAL DEWANGAN SONG SURGUJA SURGUJIHA

भले मोका आइस हमर गाँव सरगुजा में भले मोका...सरगुजिया गीत

ग्राम-कोट्या, थाना-प्रतापपुर, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से मेवालाल देवांगन एक सरगुजिया गीत सुना रहे हैं:
भले मोका आइस हमर गाँव सरगुजा में भले मोका-
माता-पिता के चरण बन्दों आरती ला उतारों-
आरती ला उतारों रामा आरती ला उतारों रामा-
गाँव-गाँव के देवी-देवता पैयां लागों तोर-
भले मोका आइस हमर गाँव सरगुजा में भले मोका...

Posted on: Sep 11, 2018. Tags: CG MEWALAL DEVANGAN PRATAPPUR SONG SURAJPUR SURGUJIHA

तोला देहु रे देहु मुंडरी बनवा के नागमडी...सरगुजिहा गीत

ग्राम-बगडा, थाना+तहसील-प्रतापपुर, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से देवानंद एक सरगुजिहा गीत सुना रहे हैं:
मोला माय हाय कैसे, मोरे संगवारी रे-
तोला देहु रे देहु मुंडरी बनवा के नागमडी-
अरे अनमोल रत्न तोरे देह माँ सजा दों-
होयें ना कभी जो कर के दिखा दों-
तोला सजा देहु रे जैसे मोरे सोनपरी रे-
माथे के बिंदी में चंदा मंगा दो-
हाथे के कंगना में तारा सजा दो...

Posted on: Sep 04, 2018. Tags: CG DEVANAND PRATAPPUR SONG SURAJPUR SURGUJIHA

कौन पारा बुले जाय कौन पारा दिन ला गंवाए...सरगुजिया गीत

ग्राम-कोट्या, जिला-सरगुजा (छत्तीसगढ़) से मेवालाल देवांगन एक सरगुजिया गीत सुना रहे हैं :
बिना झोले नई जाओं, बिना झोले नई जाओं रे-
तोर ले तोर दीदी रिझवारे-
कोन पारा बुले जाय कोन पारा दिन ला गंवाए-
कोन पारा अरीछा-मरीछा कोन पारा खाए बीरा पान ला...

Posted on: Sep 03, 2018. Tags: CG MEWALAL DEVANGAN SONG SURGUJA SURGUJIHA

छत्तीसगढ़ का 26 वां जिला सबले बढ़िया सबले सुंदर, बलरामपुर बलरामपुर...

ग्राम-मिंधारी, पोस्ट-करमडिहा,तहसील-वाड्रफनगर, थाना-बंसतपुर,जिला-बलरामपुर (छत्तीसगढ़)से अंजनी नेटी बलरामपुर जिला के उपर एक गीत सुना रही है:
छत्तीसगढ़ कर 26 वां जिला सबसे सुंदर-
सबले बढ़िया बलरामपुर बलरामपुर-
ऊँचा-ऊँचा पहाड़ पर्वत बड़ा ही घन घोर-
हाथी भालू चिरैय चिरगुन करैय बड़ी शोर – हरा- भरा खेत बारी मोहेला मन मोर-
जहाँ घुम के परदेशी डाले ना डेरा...

Posted on: Sep 02, 2018. Tags: ANJANI NETI BALRAMPUR CG SONG SURGUJIHA

« View Newer Reports

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download