तरहे रे नाना रे, नाना रे ना बोले सुआ वो...सुआ लोकगीत -

ग्राम-झुझावल, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से सुखसागर सिंह पावले एक सुआ लोकगीत सुना रहे है:
तरहे रे नाना रे, नाना रे ना बोले सुआ वो-
बोले रे सुआ वो, तरहे रे नाना रे-
हमारे अंगनवा में बिही कुबेर चार तोड़ चले रे प्रदेश-
हमारे अंगनवा में निम्बू कुबेर चार तोड़ चले रे प्रदेश-
हमारे अंगनवा में केला कुबेर चार, तोड़ चले रे प्रदेश-
अरे वो सुआ रे तोड़ चले प्रदेश...

Posted on: Sep 15, 2017. Tags: SUKHSAGR SINGH PAVLE

ऐ मेरे प्यारे वतन, ऐ मेरे उजड़े चमन, तुझ पे दिल कुर्बान...गीत

ग्राम पंचायत कोल्वी, जनपद पंचायत-जैतहरी, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से सुखसागर सिंह पावले के साथ में स्कूल की बच्चियां है जिनका नाम विध्या केवट, दीपिका रज्जक है दोनों एक गीत सुना रही है:
ऐ मेरे प्यारे वतन, ऐ मेरे उजड़े चमन-
तुझ पे दिल कुर्बान-
तू है मेरी आरजू, तू है मेरी आबरू-
तू ही मेरी जान है-
माँ का दिल बेहके कभी, सिने से लग जाता है तू-
और नही कभी दिल नहीं लगता, बन के याद आता है तू-
जितना याद आता है मुझको, उतना तड़पाता है तू-
तुझ पे दिल कुर्बान है, तुझ पे दिल कुर्बान है...

Posted on: Mar 30, 2017. Tags: SUKHSAGR SINGH PAVLE

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download