लहर-लहर झंडा उड़े रे संगी, झंडा ला करबो उचा रे...छत्तीसगढ़ी देशभक्ति गीत

ग्राम-गुडरास, जिला-राजनांदगांव (छत्तीसगढ़) से सुग्रीव मरकाम छत्तीसगढ़ी भाषा में एक गीत सुना रहे है :
लहर-लहर झंडा उड़े रे संगी, झंडा ला करबो उचा रे-
गाँधी जी हा रेंगत चटक-चटक के-
अंग्रेज मन भागत रिहिन हापट हापट के-
लहर-लहर झंडा उड़े रे संगी,झंडा ला करबो उचा रे-

Posted on: Mar 03, 2016. Tags: SUGREEV MARKAM

रे रे लो यो रे रेला रे रेला रे रेला रे रेला....गोंडी में मड़वा गीत

ग्राम-गोबेदंड, जिला-राजनांदगांव, छत्तीसगढ़ से अन्नूबाई गोंडी भाषा में मड़वा गीत गा रही हैं, यह गीत आदिवासी समाज में शादी के समय गाया जाता है:
रे रे लो यो रे रेला रे रेला रे रेला रे रेला-
इता मड़ा जय-जयरा,जय-जयरा-
भूली सिंडरी इता मड़ा जय जयरा-
दुलही सेंडरी सा रे रे रे ला-
ज्योति रंगी वायेनी वायेनी दुलही-
दुलही सेंडरी सा रे रे रे ला....

Posted on: Feb 26, 2016. Tags: Gondi SUGREEV MARKAM

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download