मैं आवौं भंगीटोला के मोर सोन सिंह हे नाम ...छत्तीसगढ़ी गीत

मैं आवौं भंगीटोला के मोर सोन सिंह हे नाम
थाना कुकदुर तहसील पंडरिया जिला कबीरधाम
रायपुर है राजधानी रमन सिंह सरकार
गांव गांव में खम्भा गड गे औ बिजली के तार
हरिहर हरिहर बिही खा ले करिया करिया जाम
आमा खा ले अमली खा ले औ खा ले तै खट्टा
आदिवासी भाई मनहा मांगत हावे पट्टा
रायपुर वाले राजेश जीजा, इन्दु दीदी नेताम
प्रेम से बोलो मोर दीदीमन जय जय सीता राम
प्रेम से बोलो मोर ददामन जय जय सीता राम

Posted on: Dec 20, 2011. Tags: Son Singh

Bridge work started 6 months back, when will it finish?

Son Singh Dhurve from Kabirdham district in Chhattisgarh says work on a rapta bridge on a river near his village started in last May. Govt has approved Rs 7 lakh for the temporary bridge but the work is very slow and people are facing lots of problem. He requests us to call the contractors at 09039874105 to check why the construction work is taking so much time. For more Son Singh ji can be reached at 07869591425

Posted on: Dec 18, 2011. Tags: Son Singh

A Chhattisgarhi song on corruption in Forest department

Son Singh Dhurve from Kabirdham district of Chhattisgarh is singing a song about corruption of Rs 11 lakhs and 90 thousand in a nursery of Govt forest department where poor adivasi laborers were cheated in his area. He says if we do not raise these issues in the form of poetry and song then how do we participate in the process of nation building. For more on the story and translation of the song Son Singh ji can be reached at 07869591425

Posted on: Nov 09, 2011. Tags: FOREST SON SINGH

आदिवासी भाई मनहा, मांगत हावै पट्टा: बैगा आदिवासी की कविताएं

आमा खा ले अमली खा ले, औ खा ले खट्टा
दारू गांजा जुआ खेले, औ खेलत हे सट्टा
आदिवासी भाई मनहा, मांगत हावै पट्टा

खटिया पलंग सोफा टूटगे, और टूटगे दीवान
जाती पाती के रैयत नई ए, होगे एक सम्मान
अपन लड़ाई लड़े के खातिर, भैया करबो हमन बखान

करिया करिया जाम पाके, हरिया हरिया बिही
एही दिन के आवत ले, कौन मरही कौन जीही

हमन गेन छट्टी मा, मुरगा सब्जी खाबो कहिन्
खाएल उहाँ बरबट्टी मा, हमर संगी पीयत रहे
हमना ला भट्टी मा, भैया हमन चल दी फटफट्टी मा

राम नाम सार हे, बाकी बेकार हे
सीजीनेट सार हे, बाकी बेकार हे
खाए बर राहर तिउरा दार हे
बैठे बर बांधा के पार हे
चढ़े बर मोटरगाड़ी कार हे
आ यार पटवारी तहसीलदार हे
एक रुपिया किलो में चाउर देथे
वो हमर छ्त्तीसगढ ला रमन सरकार हे
इतके बर बिजली के तार हे

सोन सिंह धुर्वे

Posted on: Oct 14, 2011. Tags: Son Singh

छत्तीसगढ़ के मंत्री रमन सिंह, आदिवासी ला पट्टा कब देवाथस...एक गीत

छत्तीसगढ़ के मंत्री रमन सिंह
तारा जिला ला कैसे चलाथस
आदिवासी ला पट्टा कब देवाथस?
आदिवासी सब भाई मन ला
दुःख होवत है भारी
पट्टा देहे बर ध्यान न देवे
पंडरिया के अधिकारी
आस आसा में मूडे मुडाके
जनता ला काबर रुआथस
भूख प्यास दुःख सुख ला सह के
आदिवासी के होगे मरना
काबिज जमीन पट्टा के खातिर
पंडरिया में धरे धरना
ठगे जगे आदिवासी नई माने
बेचारा गरीब ला काबर तरसाथस

सोन सिंह धुर्वे

Posted on: Oct 13, 2011. Tags: Son Singh

« View Newer Reports

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download