आपका स्वास्थ्य आपके मोबाइल में : कफ और पतले वीर्य का घरेलू उपचार

भेडाघाट, जिला-जबलपुर (मध्यप्रदेश) से सतीश कुमार बता रहे हैं कि हमारे आसपास ऐसी अनेक वनस्पतियां पाई जाती हैं जिनसे हम अपना इलाज कर सकते हैं और अपने पैसे की बचत भी कर सकते हैं जो बेकार में महंगी दवाओं में खर्च हो जाती है आज वे पहले आम बीमारी कफ के इलाज की घरेलू दवा बता रहे हैं, एक गिलास पानी में एक चम्मच शहद मिलाकर रोजाना सोने से पहले पीने से शरीर को उर्जा मिलती है और कफ भी दूर होता है. दूसरा इलाज है तिल्वोदा की दाल को पानी में फुलाकर खाने से पतले वीर्य की समस्या दूर होती हैं इसका सेवन सुबह-शाम एक मुट्ठी करे. अधिक जानकारी के लिए इस नम्बर पर संपर्क कर सकते है |सतीश कुमार@7067396350.

Posted on: Sep 24, 2017. Tags: SATISH KUMAR

तुम्हारे शहर का मौसम बड़ा सुहाना लगे...गजल

ग्राम-भेडाघाट, जिला-जबलपुर (मध्यप्रदेश) से सतीश कुमार एक ग़जल सुना रहे है :
तुम्हारे शहर का मौसम बड़ा सुहाना लगे-
तुम्हारे बस में अगर हो तो, मुझे भूल भी जा-
खुदा के पास जो मालिक हो, बात वा ना लगे-
मै एक शाम चुरा लू, अगर बुरा न लगे-
तुम्हारे शहर का मौसम बड़ा, सुहाना लगे...

Posted on: May 30, 2017. Tags: SATISH KUMAR

नर्मदा नदी को स्व्च्छ बनाने के लिए हम सभी को मिलकर प्रयास करना होगा, अधिक पेड़ लगाने पड़ेंगे...

नर्मदा तट, ग्राम-भेडाघाट, जिला-जबलपुर (मध्यप्रदेश) से सतीश कुमार बता रहे हैं कि नर्मदा नदी दूषित हो रही है लोग उसी पानी में नहाते है शौच करते है ,नालो का पानी नदी में छोड़ते है जिससे वातावरण दूषित हो रहा है वे कह रहे हैं इसके लिए जरुरी है कि सभी लोग मिलकर इसे स्व्च्छ बनाने के लिए प्रयास करे तभी कुछ हो सकता है एक व्यक्ति के करने से कुछ नही होगा, नर्मदा के पानी को स्व्च्छ रखने के लिए जो अभियान चल रहे है उसमे सहयोग कर, पौधे लगाकर भी अपना सहयोग दे सकते है लगातार चरों ओर पेड़ कट रहे हैं और इस और भी ध्यान देने की आवश्यकता है अधिक से अधिक पेड़ लगें ताकि हम भविष्य में भी स्व्च्छ जल पी सके व स्व्च्छ रह सके, हमारे आगे की पीढ़ियां भी जीवित रह सकें...सतीश@7067396350

Posted on: May 05, 2017. Tags: SATISH KUMAR

पढ़े-लिखे बिन मिले नहीं ये शिक्षा के अधिकार...शिक्षा गीत

ग्राम-कामठी, तहसील-पंडरिया, जिला-कबीरधाम, छत्तीसगढ़ से सतीश कुमार पटेल शिक्षा पर एक गीत सुना रहे हैं:
पढ़ ले ओ दीदी पढ़ लेगा भइया-
जब मोर पढ़ाउब कुटुंब-परिवार-
पढ़े-लिखे बिन मिले नहीं ये शिक्षा के अधिकार-
बिना शिक्षा के जीवन अंधेरा जैसे दिया बिना बाती हो-
हे चउ मॉस कस घन अंधियारी रास्ता दिखे नहीं आंखी हो-
अक्षर ज्ञान के दिया जलाके रास्ता ला करे उजियार-
पढ़े-लिखे बिन मिले नहीं ये शिक्षा के अधिकार....

Posted on: Apr 04, 2016. Tags: SATISH KUMAR PATEL

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download