Dehati Bultoo (Buletooth) radio : In memory of Late Smt Sarla Shriwas...

देहाती बुल्टू रेडियो की संस्थापिका, बोलकार, जोड़कार, कलाकार, सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में लोकतांत्रिक मीडिया के निर्माण में बहुमूल्य भूमिका निभाने वाली सरला श्रीवास का जन्म मध्यप्रदेश के चीच गांव जिला बालाघाट में 14 अगस्त 1986 को एक नाई परिवार में हुआ. युवा अवस्था में ही देश में लोकप्रियता हासिल कर मात्र 34 वर्ष की अवस्था में 21 मार्च 2020 को देश समाज से अलविदा कहा. सीजीनेट परिवार की और से श्रद्धांजलि के रूप में सरला श्रीवास द्वारा बनाए इस देहाती भाषा के बुल्टू रेडियो का पुनर्प्रसारण कर रहे हैं, देहाती भाषा मध्यप्रदेश के बालाघाट इलाके में बोली जाती है जहां सरला श्रीवास बड़ी हुईं | सरला श्रीवास का जाना उनके निजी परिवार के साथ साथ सीजीनेट परिवार और पूरी गरीब पिछड़ी जनता को अपूरणीय क्षति है जिनके लिए उन्होंने अपना जीवन न्योछावर किया | सरला आप बहुत याद आओगे आपकी कमी को कोई पूरा नहीं कर सकता | हम आपके बुल्टू रेडियो कार्यक्रमों को आपकी याद में बीच बीच में प्रसारित करते रहेंगे आपकी आवाज़ को सुनने के लिए...

Posted on: May 22, 2020. Tags: DEHATI BULTOO RADIO SARLA SHRIVAS

बकरी का सुरक्षित बंधिया करण कैसे करायें...

मालीघाट, मुजफ्फरपुर (बिहार) से बकरी पालन समूह और सभी बकरी पालन करने वाले श्रोताओं को कार्यक्रम के माध्यम से बकरी का सुरक्षित बंधिया करण कैसे करायें और किससे कराये बता रहे हैं, इस विषय पर जानकारी के लिये आइये सुनते हैं कार्यक्रम जिसे प्रस्तुत कर रहे हैं सरला श्रीवास और अनीता कुमारी|
जब बकरी बीमार पड़े तो उस समय गांव के पशु सखी से संपर्क करें और सलाह लें...

Posted on: Jan 02, 2020. Tags: BIHAR INFORMATION MUZAFFARPUR SARLA SHRIWAS SUNITA KUMARI

बकरी को खाने के लिये क्या दें और क्या नहीं दें...

मालीघाट, मुजफ्फरपुर (बिहार) से बकरी पालन समूह और सभी बकरी पालन करने वाले श्रोताओं को कार्यक्रम के माध्यम से बकरी को खाने के लिये क्या देना चाहिये बता रहे हैं, बकरी का पाचन तंत्र और मनुष्य का पाचन तंत्र अलग होता है इसलिये उसे चावल नहीं खिलाना चाहिये, घास, पत्ती, चूरा आदि खिलाना चाहिये इस विषय पर जानकारी के लिये आइये सुनते हैं कार्यक्रम जिसे प्रस्तुत कर रहे हैं सरला श्रीवास और अनीता कुमारी|
जब बकरी बीमार पड़े तो उस समय गांव के पशु सखी से संपर्क करें...

Posted on: Jan 01, 2020. Tags: BIHAR INFORMATION MUZAFFARPUR SARLA SHRIVAS SUNITA KUMARI

बकरी घर बनाये जिससे बीमारी और जानवरों से बचाया जा सके-

मुजफ्फरपुर (बिहार) से बकरी पालन समूह और सभी बकरी पालन करने वालो तक जानकारी पहुँचाने के लिये ये कार्यक्रम बनाया गया है, जिसे अनीता और सरला श्रीवास प्रस्तुत कर रही हैं, तो सभी श्रोता इस कार्यक्रम सुने और दूसरो को भी जानकारी दें जिससे लोग जागरूक हों और सही तरीके से बकरी पालन कर सकें और बकरियों की रोगथाम कर सके| इसके लिये आवश्यक है कि उसे सही तरीके से रखा जाये, रहने के लिये घर बनाया जाये, जिससे जानवरों और बीमारी से बचाया जा सकें|आइये जाने कैसे इस कार्यक्रम के माध्यम से...

Posted on: Dec 29, 2019. Tags: ANITA BIHAR MUZAFFARPUR SARLA SHRIVAS

हल्बा समुदाय गोंडी और हल्बी भाषा बोलते हैं, वे वर्ष में एक बार मिलकर अपनी समस्याओं और सुख दुःख पर च

ग्राम-कोंजेरा, ब्लाक-बड़े राजपुर, जिला-कोंडागांव (छत्तीसगढ़) से मैरुम नतराना, नतेल राम नाइक और उनके सांथी जुड़े हैं जो अपने समाज के रीती रिवाज और जीवन के बारे में बता रहे हैं| वे बता रहे हैं कि उनके समाज के लोग गोंडी और हल्वी भाषा बोलते हैं| उनके इलाके में लोग ज्यादा पढ़े लिखे नहीं हैं।आज का समय मोबाईल और कंप्यूटर का है, जिसके बारे में वे नहीं जानते| वे देवी देवताओं की पूजा करते हैं| साल भर में एक बार अपने समुदाय के लोगों से बैठक कर चर्चा करते हैं| सुख दुःख, समस्या, खेती बाड़ी अदि विषयो पर चर्चा करते हैं| और समस्याओं को सुलझाते हैं|

Posted on: Mar 07, 2019. Tags: CG KONDAGAON SARLA SHRIVAS STORY

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download