तन हो सुन्दर मन हो सुन्दर प्रभु मेरा जीवन हो सुंदर...कविता

मालीघाट, जिला-मुजफ्फरपुर (बिहार) से संजना कुमारी एक कविता सुना रही हैं:
तन हो सुन्दर मन हो सुन्दर प्रभु मेरा जीवन हो सुंदर-
कपडा सुंदर खाना सुंदर घर का हर कोना कोना सुंदर-
प्रभु मेरा आंगन हो सुंदर तन हो सुंदर मन हो सुंदर-
सोना सुंदर जगना सुंदर वाणी सुंदर गाना सुंदर...

Posted on: Jan 16, 2017. Tags: SANJNA KUMARI

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download