कोयावंसी कोयतुर आंदुर, दाई न विनय के जागा...गोंडी सुमरनी गीत-

ग्राम-कौड़िया, तहसील-पांडुना, जिला-छिंदवाडा (मध्यप्रदेश) से रंजना उईके एक सुमरनी गीत सुना रही हैं :
कोयावंसी कोयतुर आंदुर, दाई न विनय के जागा-
लिंगो न विनय के जागा-
बड़ा हो दाई कछारगढ़ से बिगड़ी ही मा बनी की-
तैतीस करोड़ देवता ला माता कली कंकाली दाई-
गोंडी वंस ता बूढी माता बड़ा सदा सा दाई-
गोंडी वंस ता बूढी माता मावा सदा सा दाई...

Posted on: Aug 04, 2018. Tags: CHHINDWADA GONDI MP RANJANA UIKEY SONG

Electricity connection given 4 years ago but no electricity yet to BPL families...

Chakranjana is calling from Muhayya village of Baidam Post, Devgarh district in Odisha. He says 4 years ago Electricity connection was given to their village but transformer has still not fixed. 54 Below Poverty Line families are living in dark and their repeated complaints in the grievance cell of collector, public hearing didn’t work so far. You are requested to call Collector@9437108050, Electricity dept@9437057956 to help suffering poor people. Chakranjana@9937709313.

Posted on: Mar 12, 2015. Tags: CHAKRANJANA ELECTRICITY

Like 15 August we should also attend martyrdom function of Rani Durgavati...

रंजना आहके ग्राम हिवरा, सनावर ब्लाक पान्दुर्ना जिला छिंदवाडा मप्र से है इन्होने 24 जून को रानी दुर्गावती के शहादत दिवस कार्यक्रम में आने की अपील की है, जो एक आदिवासी महिला थीं | वे कहती हैं कि हम स्वतन्त्रता दिवस और गणतंत्र दिवस तो मनाते हैं पर रानी दुर्गावती ने भी इसी स्वतन्त्रता को पाने में योगदान दिया पर उन्हें भूल जाते हैं | अधिक जानकारी के लिए रंजना जी से आप 9575982398 पर संपर्क कर सकते हैं

Posted on: Jun 22, 2013. Tags: Ranjana Ahake

हो चली है पीर परबत सी पिघलनी चाहिए

हो चली है पीर परबत सी पिघलनी चाहिए
अब हिमालय से कोई गंगा निकलनी चाहिए

जुर्म की दीवार परदो की तरह हिलने लगी
शर्त लेकिन थी कि बुनियाद हिलनी चाहिए

मेरे सीने में न सही तेरे सीने में सही
आग जो है आग फिर से आग जलनी चाहिए

दुष्यंत कुमार

Posted on: Oct 18, 2010. Tags: Ranjana

सैनिक की अंतिम इच्छा : एक कविता

साथी घर जाकर मत कहना, संकेतों में बतला देना

यदि हाल मेरी माता पूछे, मुरझाया फूल दिखा देना
यदि इतना कहने से न माने, जलता दीप बुझा देना

यदि हाल मेरी बहना पूछे, मस्तक तिलक मिटा देना
यदि इतना कहने से न माने, तो राखी तोड दिखा देना

यदि हाल मेरी पत्नी पूछे, मांग सिंदूर मिटा देना
यदि इतना कहने से न माने, तो चूडी तोड दिखा देना

Posted on: Oct 14, 2010. Tags: Ranjana

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download