5.6.31 Welcome to CGNet Swara

जगह-जगह तोरे ज्योति जले है...भजन गीत

ग्राम-छुल्कारी, पोस्ट-पसला, जिला-अनुपपुर (छत्तीसगढ़) से रेवालाल केवट एक गणेश जी का भजन गीत सुना रहे है:
जगह-जगह तोरे ज्योति जले है-
जय हो गजानंद स्वामी-
चला चली, चला चली पूजा करे ला-
जुड़ मिल के संगवारी-
पान चढ़े फूल चढ़े-
और चढ़े स्वामी मेवा-
लड्वन का भोग लगे-
संत करे तोर सेवा-
चला चली, चला चली पूजा करे ला...

Posted on: Jun 14, 2018. Tags: REWALAL KEWAT

धरती माता के आशा किसान भाई, करा तुम किसानी करा हो...बघेली किसान लोकगीत -

ग्राम-छुल्कारी, पोस्ट-फुन्गा, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से रेवालाल केवट एक बघेली किसान लोकगीत सुना रहे हैं:
धरती माता के आशा किसान भाई, करा तुम किसानी करा हो-
कांधे म धरके फरुहा कुदारी, सांथ मा दादू के महतारी-
खेतन खेत बनवा किसान भाई, करा तुम किसानी करा हो-
खेतन खेत मा डारा खादा जौने अन्न उग जावय ज्यादा-
धरती माता के आशा किसान भाई, करा तुम किसानी करा हो...

Posted on: Jan 02, 2018. Tags: REWALAL KEWAT

धार्मिक गीत के मै गवईया आयों, संगीत के मै बैईहा आयों...नवधा गीत -

ग्राम-छुल्कारी, पोस्ट-पसला, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से रेवालाल केवट एक नवधा गीत सुना रहे हैं :
धार्मिक गीत के मै गवईया आयों, संगीत के मै बैईहा आयों – धरती के फूल मा मै गावत हों – नवधा रामायन मै गावत हों – का ला बताओं जी संगवारी गाँव हमर छुल्कारी है – भूल चुल ला माफ़ी दईहा दाई दीद महतारी हो – छत्तीसगढ़ी गवैया आयों धर्मिक गीत के गवैया आयों...

Posted on: Dec 28, 2017. Tags: REWALAL KEWAT

सैला बरे पैला बरे: पारंपरिक सैला गीत...

ग्राम-छुल्कारी, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से रेवालाल केवट अपने साथियों के सांथ एक पारंपरिक सईला संगीत प्रस्तुत कर हैं. ये गीत मध्य भारत में निवास करने वाले गोंड जनजाति के लोग दशहरा, दीपावली, नवाखाई के अवसर पर गाया करते है, यह गीत और नृत्य इस समय रेवालाल जी के गाँव में चल रहा है जिसे वे अपने फोन के माध्यम से सीजीनेट के सुनने वाले साथियों के साथ बांटना चाहते हैं. इन समारोहों में अक्सर पूरा गाँव ही शामिल होता है और बच्चे, बूढ़े, महिलाओं सहित सारे लोग नृत्य और गीत में शामिल होते हैं और कोई दर्शक नहीं होता। पर दुखद है कि ये प्राचीन परम्पराएं अब धीरे धीरे कम और ख़त्म होती जा रही है और नयी पीढ़ी इसमें कम ही रूचि ले रही है. अभी के गीत के बोल हैं : सैला बरे पैला बरे-

Posted on: Dec 27, 2017. Tags: REWALAL KEWAT

राम जी से पूछे जनकपुर के नारी...राम भजन-

ग्राम-छुल्कारी, पोस्ट-फुन्गा, जिला-अनुपपुर (म.प्र.) से रेवालाल केवट एक राम भजन सुना रहे है:
राम जी से पूछे जनकपुर के नारी-
बता जा बाबुआ लुगवा देते काहे गारी-
तोहरा से पूछूं में ये धनुषधारी-
एक भाई गौर कहे एक भाई कारी-
बता जा बाबुआ लुगवा देते काहे गारी...

Posted on: Dec 22, 2017. Tags: REWALAL KEWAT

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »


Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download


From our supporters »