तू तो है कोरोना सबका हत्यारा...कविता-

राजनंदगांव (छत्तीसगढ़) से वीरेंद्र गंधर्व एक कविता सुना रहे हैं:
तुझसे त्रस है विश्व सारा-
तू तो है कोरोना सबका हत्यारा-
बंद कराये विद्यालय बंद कराये दुकाने-
और क्या क्या गुल खिलायेगा न जाने-
हम सब आपस में मिलकर-
तुझे चित्त करेंगे सारे खाने-
संकल्प लिया है सर्व हारा-
तुझसे पायेंगे छुटकारा...

Posted on: Mar 29, 2020. Tags: CG POEM RAJNANDGAON VIRENDRA GANDHARV

लारी-लारी चुनरी ओढ़े...देवी गीत-

ग्राम-खैरागढ़, जिला-राजनांदगाँव (छत्तीसगढ़) से जया मुंडे एक देवी गीत सुना रही हैं:
कोरी-कोरी नरियर चढ़े ये दाई ओ-
लारी-लारी चुनरी ओढ़े-
केरा गाँव में अपला छाँव मा-
माई बिराजे हे द्वारे खोले-
चैत माहीना चुर मा चिरौंजी-
बैशाख बर की बुंदिया बालू साही-
जेठ जलेबी जुआरी लाडू-
कोरी-कोरी नरियर चढ़े ये दाई ओ...

Posted on: Mar 29, 2020. Tags: JYA MUNDE RAJNANDGAON SONG

माटी के दुर्गा तोला बैठायो...गीत-

खैरागढ़, जिला-राजनांदगांव (छत्तीसगढ़) से जया मुंडे एक गीत सुना रही हैं:
माटी के दुर्गा तोला बैठायो-
नौ दिन दियो नौ रतिया-
मईया तोरे लागेव पईया-
आज माटी में गढ़ के मईया-
कुम्हार हा तोला बनावय हो-
नौ रतन के गहना बनाके-
सुनार हा तोला सजाय हो...

Posted on: Mar 26, 2020. Tags: CG JAYA MUNDE RAJNANDGAON SONG

इंसान को प्रकृति का नुकसान नहीं करना चाहिये...

राजनांदगांव (छत्तीसगढ़) से नम्र सिंह ठाकुर सभी नवरात्रि पर्व की बधाई देते हुये संदेश दे रहे हैं कि इस संसार में सबसे समझदार और बुद्धिमान प्राणी मानव को माना गया है इसलिये हमें किसी जीव को नुकसान नहीं पहुँचाना चाहिये, आज इंसानों हर जगह बिल्डिंग बना लिये हैं, सड़के बना डाली है अपनी जनसँख्या बढाई है लेकिन इस भूमि पर हमारे साथ जिन जीवों का अधिकार है उनके लिये कुछ नहीं छोड़ा है, घास के मैदान, वन सब नष्ट कर दिये हैं ये हमारी बुद्धिमानी का प्रतीक नहीं है ईश्वर ने हमें इतना योग्य बनाया है तो हमें इस संसार की रक्षा करनी चाहिये और जीवों को भी नुकसान नहीं पहुँचाना चाइये|

Posted on: Mar 25, 2020. Tags: CG NAMR SINGH THAKUR RAJNANDGAON

तुझसे त्रस है विश्व सारा...कविता-

राजनांदगांव (छत्तीसगढ़) से विरेन्द्र गंधर्व एक कविता सुना रहे हैं:
तुझसे त्रस है विश्व सारा-
तू तो है कोरोना सबका हत्यारा-
बंद कराये विद्यालय बंद कराये दुकाने-
और क्या क्या गुल खिलायेगा न जाने-
हम सब आपस में मिलकर-
तुझे चित्त करेंगे सारे खाने-
संकल्प लिया है सर्व हारा-
तुझसे पायेंगे छुटकारा...

Posted on: Mar 25, 2020. Tags: CG POEM RAJNANDGAON VIRENDRA GANDHARV

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download