स्कूल का माहोल खराब करते हैं शिक्षक शिक्षिका, बच्चो पर बुरा असर पड़ता है...

ग्राम-टीकर खुर्द, पोस्ट-बड़ा खुर्द, तहसील-मैहर, जिला-सतना (मध्यप्रदेश) से राधा सिंह मरावी बता रही हैं प्राथमिक शाला टीकर खुर्द में बच्चो को ठीक से पढाया नहीं जाता है, शाला में शिक्षक रामफल विश्वकर्मा और शिक्षिका छोटी बाई हैं दोनों पर आरोप है कि ये स्कूल में अश्लील हरकत करते हैं जिससे स्कूल का माहोल खराब होता है और बच्चो पर बुरा असर पड़ता है जिस संबंध में उन्होंने गांव के सरपंच के पास शिकायत किया लेकिन कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है इसलिये वे सीजीनेट के श्रोताओं से निवेदन कर रही हैं कि दिये गये नंबरों पर बात कर उचित कारवाही कराने और दूसरा शिक्षक लाने में मदद करें : CEO@8817052150. संपर्क नंबर@9755246110.

Posted on: Jan 04, 2020. Tags: MP PROBLEM RADHA SINGH MARAVI SATANA

हांथी भालू दोनों में था सच्चा-सच्चा मेल...कविता

ग्राम-कुम्हारी, पंचायत-भैंसगाँव, तहसील-अंतागढ़, जिला-कांकेर (छत्तीसगढ़) से यमुना और सुनीता एक कविता सुना रहे हैं:
हांथी भालू दोनों में था सच्चा-सच्चा मेल-
दोनों मिलकर खेल रहे थे लुका छिपी का खेल-
हांथी बोला सुन भाई भालू मै अब छुपने जाता हूँ-
पानी वाले जगह मिलूंगा पक्की बात बताउंगा...

Posted on: Jun 06, 2019. Tags: ANTAGARH CG KANKER POEM RADHA KACHLAM

पैसे पास होते तो चार चने लाते...कविता

ग्राम-कुम्हारी, पंचायत-भैंसगाँव, तहसील-अंतागढ़, जिला-कांकेर (छत्तीसगढ़) से यमुना, सुनीता एक कविता सुना रहे हैं:
पैसे पास होते तो चार चने लाते-
चार में से एक चने तोते को खिलाते-
तोते को खिलाते टाव-टाव गाता-
टाव-टाव गाता तो बड़ा मजा आता-
पैसे पास होते तो चार चने लाते-
चार में से एक चने घोड़े को खिलाते...

Posted on: Jun 06, 2019. Tags: ANTAGARH CG KANKER POEM RADHA KACHLAM

दीदी का जब बिहाव रचाया मेरे माता-पिता ने...कविता

ग्राम-कुम्हारी, पंचायत-भैंसगाँव, तहसील-अंतागढ़, जिला-कांकेर (छत्तीसगढ़) से नीलिमा उसेंडी, यमुना एक कविता सुना रहे हैं :
दीदी का जब बिहाव रचाया मेरे माता-पिता ने-
मेहमानों को तब बुलाया मेरे माता पिता ने-
दिल्ली से फिर दादा-दादी नाना-नानी आये-
साडी बिंदिया चूड़ी कंगन कई पेटियां लाये-
मामा-मामी काका-काकी मौसा-मौसी आये...

Posted on: Jun 06, 2019. Tags: ANTAGARH CG KANKER POEM RADHA KACHLAM

ऐ फौजी अपने वतन के जो दूर हैं घर आंगन से...गीत-

ग्राम-नवस्ता, पोस्ट-तनहा, तहसील-त्योथर, जिला-रीवा (मध्यप्रदेश) से आराधना वर्मा एक गीत सुना रही हैं :
ऐ फौजी अपने वतन के जो दूर हैं घर आंगन से-
खू इनका बहाकर देखो, क्या प्यार है इनको वतन से-
जवानों का खून का दामन है, कयामत का आलम है-
उस माँ से जाकर पूछो वो हालत कैसी होगी-
जब लास जवां बेटे की आँखों से देखो होगी-
वो कैसा होगा नजारा, कोई माँ की आँखों का तारा...

Posted on: Apr 14, 2019. Tags: ARADHANA VERMA MP REWA SONG

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download