काहे सुनते नहीं हो पुकार मेरी हो...गीत

ग्राम-चौखंडी, ब्लॉक-जवा, जिला-रीवा (मध्यप्रदेश) से नीतू मोहरे एक गीत सुना रही हैं:
काहे सुनते नहीं हो पुकार मेरी हो-
मैं तो कब से खड़ी हूँ-
तेरे द्वार गौतम बुद्ध-
महा माया के राज दुलहर हो-
दूधो धन के प्राण पियर हो-
मौसी के गोदी में खेलन हो...

Posted on: Mar 11, 2017. Tags: NEETU MOHRE

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download