मन में तोरा बड़ा देव, जप ले जय सेवा रे...गोंडवाना सेवा गीत -

ग्राम-टांकी, पोस्ट-मलगा, तहसील-कोतमा, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से नरेश सिंह एक गोंडवाना सेवा गीत सुना रहे है :
मन में तोरा बड़ा देव, जप ले जय सेवा रे-
जब जब देख ले से, सेवा में मेवा है-
जय सेवा मन्त्र ले तन मन जागे-
दुख दर्द में टोना जादू छोड़ भागे-
निति नियम रे निति मेवा रे, मन तोर बड़ा देव है-
जप ले जय सेवा रे, तन में तोरा बड़ा देव है-
जप ले जप ले, सेवा में मेवा रे-
मेहनत करके मीठा फल खावे,
भगवन के चक्कर में भूखा मर जावे रे...

Posted on: May 29, 2017. Tags: NARESH SINGH

जगत-जगत जगत गा, बावन गढ़ गढ़ी निहारु रे जगत...गोंडवाना गीत

ग्राम-टांकी, पोस्ट-मलगा, तहसील-कोतमा, जिला-अनूपपुर (छत्तीसगढ़) नरेश सिंह एक गोंडवाना गीत सुना रहे है :
जगत-जगत जगत गा, बावन गढ़ गढ़ी निहारु रे जगत-
टंगिया वाले टंगिया ला धर के, खांदा में ओहदे पजावा-
तनही वाले खनगिल धर के, तीर ला उदय लगावा-
ग़ाव न ग़ाव घर दुरा दुरा, माँ जय बड़ा देव पावा-
छोटे बड़े लड़के सयान-
जय-जय शिवा बुलावा ते जय जय शिवा बुलावा ते...

Posted on: May 17, 2017. Tags: NARESH SINGH

ये खवाहूँ रे बड़ादेव दोना-दोना महुआ लाटा...पारंपरिक गीत

ग्राम-टांकी, पोस्ट-मलगा, तहसील-कोतमा, जिला-अनूपपुर (म.प्र.) से नरेश सिंह छत्तीसगढ़ी भाषा में एक पारम्परिक गीत सुना रहे हैं :
ये खवाहूँ रे बड़ा देव दोना-दोना महुआ लाटा-
भक्ति मोर ले-ले शक्ति तोर दे-दे हाथों मैंहौं छाटा-
मादर,टिमकी,गोदमा बड़ादेव नगारा बजाहौं – झुमर-झुमर,उचट-उचट बड़ादेव नाचा दिखाहौं-
दिखाऊ रे बड़ादेव कोया कोय्तूरण के नाचा-
सुआ,करमा,ददरिया बड़ादेव रीना सुनाहौं-
सरसेट्टी,लहकी,उचट्टा बड़ादेव में गाना सुनाहौं – कोया मुरीद में बड़ादेव नावला जगा दे मोर-
ज्ञान-बुद्धि के पिटारा ले बड़ादेव मन्त्र ला दे-दे तोर-
ये बनाहूँ रे बड़ादेव कोया कोयांतूरण के गाथा-
ये खवाहूँ रे बड़ादेव दोना-दोना महुआ लाटा...

Posted on: May 14, 2017. Tags: NARESH SINGH

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download