पीड़ितों का रजिस्टर: आर्थिक सहायता मिलना चाहिए

ग्राम ऊंचाकोट, पंचायत दर्रामेट, ब्लाक ओरछा जिला नारायणपुर छत्तीसगढ़ से सुखराम जी बता रहे हैं उनके गांव में नक्सली लोग आना जाने करते थे। 2008 में नक्सलियों ने मारने के लिए प्लान बनाए थे। फिर नक्सलियों के मार के डर से लोग अपनी जान बचाकर गांव छोड़कर नारायणपुर ।भागकर रहने के लिए आ गए। और झोपड़ी बनाकर रह रहे हैं 6 परिवार हैं दो लड़का दो लड़की हैं। उन्हें सरकार के तरफ से कोई आर्थिक सहायता नहीं मिला है। और उनका पूराना गांव जाने में अभी भी डर है। जाने से नक्सलियों लोग मार देंगे। अधिक जानकारी के लिए संपर्क नंबर@7898038856.

Posted on: Feb 01, 2023. Tags: CG DISPLACED HOUSE MAOIST VICTIM NARAYANPUR ORCHHA VICTIM RAJISTAR

पीड़ितों का रजिस्टर: सरकारी नौकरी और जमीन चाइए कृपया मदद करें

ग्राम: अलबेड़ा, ग्राम पंचायत: कुथुल, ब्लॉक: ओरछा, जिला: नारायणपुर, राज्य: छत्तीसगढ़ की संतोराम वरदा (पिता का नाम: जोगाराम वरदा) ने बताया है कि उनके चाचा और छोटे भाई को 2011 में नक्सलियों ने बुरी तरह पीटा था और उस गांव से उनको नक्सलाइयों ने निकल दिए।अब वह नारायणपुर के गुदरी पारा (शांतिनगर साइड) में रहते हैं। संतूराम ने कहा कि गुदरी पारा में कुछ लोगों को मुआवजे के तौर पर कुछ आर्थिक मदद मिली, लेकिन उन्हें कुछ नहीं मिला। उन्हें रिपोर्ट का पेपर बाद में मिला, इसलिए उन्हें कोई आर्थिक मदद नहीं मिली। संथुराम ने बताया कि नारायणपुर थाने में कई बार पुलिस को आवेदन देने पर भी उन्हें कोई आर्थिक मदद नहीं मिली। उनके परिवार में पांच लोग रहते हैं।
संथुराम ने 5वीं तक पढ़ाई की है। उसने सरकारी नौकरी के लिए आवेदन भी किया है, लेकिन अभी तक नौकरी नहीं मिली है। उसने कहा कि वह अभी अपने गांव नहीं जा सकता, नक्सली डर पूरी तरह से निकल जाने के बाद वह अपने पुराने गांव जाएगा।

इसलिए वे सीजीनेट के साथियों से अनुरोध कर रहे हैं कि अधिकारियों से बात कर उनको आर्थिक मदद और सरकारी नौकरी दिलाने में मदद करें। संपर्क व्यक्ति नंबर: 9406077166

Posted on: Jan 30, 2023. Tags: CG DISPLACED JOB KILLED LAND MOIST NARAYANPUR ORCHHA REGISTER VICTIM

पीड़ितो का रजिस्टर : जमीन एवम् घर चाहिए

ग्राम:इत्तावाड़ा , ग्राम पंचायत:अंदावाड़ा, ब्लॉक:ओरछा,थाना:ओरछा,

जिला:नारायणपुर,राज्य छत्तीसगढ़ की सोमारू जी ने कहा की वे 2017 नवंबर में गुदरी पारा(नारायणपुर) में रहने आये थे।22 दिसंबर 2017 को सोमारू जी ने समर्पण किया तो उन्हें पुलिस में नौकरी मिली,मुआवज़ा के तौर पर 10 हजार रुपये। उनके परिवार में पिता, बड़ी बहन, मां रहते हैं।अब वे गुदरी पारा (नारायणपुर)में रह रहे है। उन्होंने कहा कि उन्हें रहने के लिए घर या जमीन नहीं मिली।सोमारू ने कहा कि उसने जमीन के लिए कलेक्टर को आवेदन दिया था लेकिन जमीन नहीं मिली।इसलिए वे सीजीनेट के साथियों से अनुरोध कर रहे है की अधिकारियों से बात कर जमीन दिलाने में मदद करें।संपर्क व्यक्ति नंबर:7585157232———————————————————————————————————————-Village: Ittawada, Gram Panchayat: Andawada, Block: Orchha, Police Station: Orchha, Somaru ji of District: Narayanpur, State Chhattisgarh said that he had come to live in Gudri Para (Narayanpur) in November 2017. On December 22, 2017, Somaru ji surrendered and got a job in the police, Rs 10,000 as compensation. His family consists of father, elder sister, mother. Now he is living in Gudri Para (Narayanpur). He said that he did not get a house or land to live. Somaru said that he had applied for the land to the collector but did not get the land. So he is requesting the CGNET colleagues to help him get the land by talking to the authorities. Contact Person No:7585157232

Posted on: Jan 30, 2023. Tags: CG LAND NARAYANPUR ORCHHA SURRENDER

पीड़ितों का रजिस्टर:परिवार में किसी को सरकारी नौकरी दिलाने में कृपया मदद करें

ग्राम: चिन्नारी, पंचायत: चिन्नारी, जिला: नारायणपुर, राज्य: छत्तीसगढ़ संतोष यादव (पिता का नाम सरम यादव) 2011 में ग्राम चिन्नारी से नारायणपुर आये थे। उन्होंने कहा कि उनके बड़े पिता को पुलिस ने मार डाला था। संतोष यादव ने कहा कि नक्सलियों को शक था कि उनके पिता पुलिस के साथ हैं और उन्हें मारने के लिए हर शाम गांव में बैठकें करते थे। इसलिए वे नारायणपुर में इस डर से रहते हैं कि उनके पिता को भी मार दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि उनका पूरा परिवार नारायणपुर में रहने आया है। उनका आरोप है कि सरकार उन्हें कोई मुआवजा नहीं दे रही है। संतोष यादव अब 12वीं कक्षा में पढ़ रहा है। उसके परिवार में अब तीन छोटी बहनें और एक मां है। उसके पिता की दो साल पहले मौत हो गई थी। संतोष यादव का परिवार गरीबी में है और चाहता है कि परिवार में किसी को सरकारी नौकरी मिले। इसलिए वे सीजीनेट के साथियों से अनुरोध करते हैं कि वे अधिकारियों से बात करें और कोई भी सरकारी नौकरी प्राप्त करें। संपर्क व्यक्ति संख्या: 9329904174————————————————————————————————————-Village: Chinnari, Panchayat: Chinnari, District: Narayanapur, State: Chhattisgarh Santosh Yadav (father’s name Saram Yadav) said that he came to Narayanpur from village Chinnari in 2011. They say that their elder father was killed by the police and that the Naxalites hold meetings in the village every evening to kill his father too. Santosh Yadav said that they came to live in Narayanpur fearing that their father would also be killed. They said that their entire family had come to live in Narayanpur. They complained that the government did not provide any compensation to them. Santosh Yadav is now studying in class 12. He said that his family now has three younger sisters and a mother. His father died two years ago. Santhosh Yadav’s family is in bad condition and someone in the family wants to get a government job. Hence they are requesting CGNet colleagues to talk to the authorities and provide any government job. Contact Person No:9329904174

Posted on: Jan 29, 2023. Tags: CG MOIST NARAYANPUR REGISTER VICTIM

पीड़ितों का रजिस्टर:-आवास मिलने की उम्मीद कर रहे

ग्राम : गुदरी पारा, ग्राम पंचायत: ओरछा, जिला: नारायणपुर, राज्य: छत्तीसगढ़ से मोहन कोर्रम बता रहे है की वे पहले बटूम पारा (नारायणपुर)में रहा रहे थे। उनके परिवार में अयुथु कोर्रम, मोहन कोर्रम, बुदरू कोर्रम और आरती कोर्रम रहते हैं। नक्सलियों ने उन्हें बट्टम पारा से निकल दिया और इसलिए वे 2016-17 में गुदरी पारा(नारायणपुर) में आकर रहने लगे। मोहन कोर्रम ने कहा कि जब नक्सलियों ने उसे मारने की योजना बनाई तो वह से भाग गया। इसके बाद उनके परिवार को उस गांव से निकाल दिया गया। उन्हें सरकार से कोई आर्थिक मदद या मुआवजा नहीं मिला है। वे अब उसी राशन कार्ड का उपयोग कर रहे हैं जो उन्हें तब मिला था जब वे पुराने गांव (बतुम पारा) में थे। अब वे झोपड़ी में रह रहे हैं। इसलिए मोहन चाहता है कि सरकार उन्हें घर मुहैया कराए। इसलिए वे सीजीनेट के साथियों से अनुरोध कर रहे हैं कि अधिकारियों से बात कर उन्हें मकान उपलब्ध कराएं। संपर्क व्यक्ति संख्या: 9406488680————————————————————————————————————————-Village: Gudri Para, Gram Panchayat: Orchha, District: Narayanpur, State: Chhattisgarh Mohan Korram says that he used to live in Batum Para (Narayanpur). Ayuthu Korram, Mohan Korram, Budru Korram and Aarti Korram live in his family. The Naxalites drove them out of Battam Para and so they moved to Gudri Para (Narayanpur) in 2016-17. Mohan Korram said that when the Naxalites planned to kill him, he ran away. After this his family was expelled from that village. He has not got any financial help or compensation from the government. They are now using the same ration card that they got when they were in the old village (बतुम पारा). Now they are living in a hut. So Mohan wants the government to provide him a house. So they are requesting the friends of CGNET to talk to the authorities and provide them a house. Contact Person Number:9406488680————

Posted on: Jan 29, 2023. Tags: CG DISPLACED MOIST NARAYANPUR ORCHHA REGISTER VICTIM

« View Newer Reports

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »


YouTube Channel




Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download