पीड़ितों का रजिस्टर: आर्थिक सहायता की मदद चाइए

ग्राम: उचाकोड , जिला: नारायणपुर, राज्य: छत्तीसगढ़ के सुकराम तालाम बता रहे है कि वह 2008 से शांतिनगर, नारायणपुर में रह रहे है। उसने कहा कि जब नक्सलियों ने उसे मारने की योजना बनाई तो वह वहा से भाग करआया। अपने परिवार में तीन लोग रह रहे हैं। शुक्राम ने कहा कि उन्होंने अपनी जमीन पुराने गांव में छोड़ दी थी और अब गांव वाले खेती कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें सरकार से कोई आर्थिक मदद नहीं मिली है। इसलिए वे सीजीनेट के साथियों से अनुरोध कर रहे है की अधिकारियों से बात करके आर्धिक मदद दिलाने में मदद करें । संपर्क नंबर: 7585271964

Posted on: Feb 04, 2023. Tags: CG DISPLACED FINANCIAL MOIST NARAYANPUR REGISTER SUPPORT VICTIM

पीड़ितों का रजिस्टर:जमीन और माकन दिलाने में मदद करें

ग्राम:कन्दाडी ,पंचायत: कोत्तूर मेट्टा,थाना:नारायणपुर,ब्लॉक: नारायनपुर,जिला:नारायणपुर,राज्य: छत्तीसगढ़ की शर्वन भागेल(पिता का नाम: मानसिंह भगेल) बता रहे है की उनके परिवार में उनके तीन छोटे भाई हैं, जिनमें से सभी की शादी हो चुकी है और उनके बच्चे भी हैं। उन्होंने कहा कि अब उनके माता, पिता, पत्नी और बच्चे रह रहे हैं। वे दो कमरे की झोपड़ी में रह रहे हैं। उसके पास राशन कार्ड है और कोई बस पास नहीं है। नक्सलियों ने उसके गांव में स्कूल ट्रांसपोर्ट बंद कर दिया। उसके पिता के पुलिस में होने के शक में नक्सलियों ने उसे कई बार पीटा। नक्सलियों ने उसके पिता को मारने की योजना बनाई थी, वे अपना गाँव कंडली छोड़कर नारायणपुर के पास आ गए।शरवन बघेल ने कहा कि अब उन्हें जमीन चाहिए। अब वे अपने पुराने गांव जाएंगे तो नक्सली मार डालेंगे, इसलिए नहीं जा सकते।इसलिए वे सीजीनेट के साथियों से अनुरोध कर रहे है की अधिकारियों से बात करके जमीन और माकन दिलाने में मदद करें। संपर्क नंबर: 9406801475———————————————————————————————————————-Village :Kandadi, Panchayat: Kottur Metta, Police Station:Narayanpur, Block:Narayanpur, District: Narayanpur, State: Chattisagarh, Sharvan Bhagel (father’s name: Mansingh Bhagel) of is telling that he has three younger brothers in his family, all of whom are married and have children. He said that now his mother, father, wife and children are living. They are living in a two room hut. He has a ration card and no bus pass. Naxalites stopped school transport in his village. Suspecting that his father was in the police, the Naxalites beat him several times. Naxalites had planned to kill his father, they left their village Kandli and came near Narayanpur. Sharvan Baghel said that now they want land. Now if he goes to his old village Naxalites will kill him, so he can’t go. That’s why he is requesting CGNET colleagues to talk to the authorities and help him get land and house. Contact number: 9406801475

Posted on: Feb 04, 2023. Tags: CG DISPLACED HOUSE LAND MOIST NARAYANPUR REGISTER VICTIM

पीड़ितों का रजिस्टर:सरकारी नौकरी दिलवाने में मदद करें

ग्राम:चिन्नारी,पंचायत:चिन्नरी,थाना:जारा घाटी ,जिला: नारायणपुर,राज्य: छत्तीसगढ़ की बिरसा पोतायी (पिता जी का नाम: गुत्सान) बता रहे है की वे 2014 में नारायणपुर आए थे। उन्होंने कहा कि उनके छोटे भाई को नक्सलियों ने मार डाला। बिरसा पोथाई ने कहा कि जब बिरसा पोथाई काम कर रहे थे तो पुलिस ने उन्हें लाकर 4 महीने तक थाने में रखा, जिसके चलते उनके छोटे भाई को नक्सलियों ने मार डाला।इसलिए वे नारायणपुर आ गए। उन्हें मुआवजे के तौर पर 5 लाख रुपये मिले। सरकारी नौकरी नहीं मिलती। बिरसा पोथाई ने 8वीं तक पढ़ाई की। उन्होंने कहा कि उनके परिवार में कुल चार छोटी बहनें, मां और वह खुद हैं। बिरसा के पिता की मृत्यु हो गई। उनके पास राशन कार्ड है। बस पास के लिए आवेदन किया लेकिन अभी तक बस पास नहीं मिला। बिरसा पोथाई ने कहा कि उन्हें सरकार से घर की जमीन मिली और उसी जमीन पर अपना घर बनाया। उन्होंने कहा कि उनके चाचा के बेटे को दो महीने पहले नक्सलियों ने मार डाले थे इसलिए वे अपने पुराने गांव नहीं जाना चाहता था। उन्होंने कहा कि नक्सलियों का अभी भी डर है और इसलिए वे अपने पुराने गांव नहीं जाना चाहते हैं। बिरसा पोताई अपने परिवार का समर्थन करने के लिए सरकारी नौकरी करना चाहता है, इसलिए बिरसा पोटाई सिगिनेट के सहयोगियों से अनुरोध कर रहा है की अधिकारियों से बात करके उसे सरकारी नौकरी दिलवाने में मदद करें।

संपर्क व्यक्ति नंबर:9301409699.

Posted on: Feb 03, 2023. Tags: CG JOB KILLED MOIST NARAYANPUR ORCHHA REGISTER VICTIM

पीड़ितों का रजिस्टर :सरकारी नौकरी और मकान दिलाने में मदद करें

ग्राम पड़लिया, पंचायत:कुतुल, थाना: कूकराझोड़ ,ब्लॉक:ओरछा,जिला: नारायणपुर,राज्य: छत्तीसगढ़ की मानूराम वरदा बता रहे है की अब वे वर्तमान में गुडरी पारा (नारायणपुर ) में रह रहे है।
मनुराम ने बताया कि उनके बड़े भाई नक्सलियों के साथ काम करते थे और उनके भाई के नारायणपुर आने के बाद उनके परिवार को भी नक्सलियों ने नारायण के पास भेज दिये। नक्सलियों ने उनके परिवार को परेशान किया। उन्होंने बताया कि उनके परिवार में उनके बड़े भाई ,भाभी , मां और रहनू वरदा (विकलांग) रह रहे हैं। पिता और बड़े भाई की मौत हो चुकी है। वे 2017-18 में नारायणपुर आए थे। उन्हें सरकार से कोई मुआवजा नहीं मिला है। उन्होंने सरकारी नौकरी और एक घर के लिए आवेदन किया और अभी तक नहीं मिला। उसने कहा कि अब वह अपने पुराने गांव जाएगा तो नक्सली उसे मार देंगे, इसलिए वह नहीं जाना चाहता। उन्होंने कहा कि अगर उनके गांव में सीआरपीएफ का कैंप लगता है तो वह जा सकेंगे। इसलिए वे सीजीनेट के साथियों से अनुरोध कर रहे है की अधिकारियो से बात करके सरकारी नौकरी और मकान दिलाने में मदद करें। संपर्क व्यक्ति संख्या:8305352951

Posted on: Feb 03, 2023. Tags: CG JOB MOIST NARAYANPUR ORCHHA REGISTER VICTIM

पीड़ितों का रजिस्टर :जमीन दिलाने में मदद करें

ग्राम:इत्तावाड़ा , ग्राम पंचायत:अंदावाड़ा, ब्लॉक:ओरछा,थाना:ओरछा,

जिला:नारायणपुर,राज्य छत्तीसगढ़ की सोमारू जी ने कहा की वे 2017 नवंबर में गुदरी पारा(नारायणपुर) में रहने आये थे।22 दिसंबर 2017 को सोमारू जी ने समर्पण किया तो उन्हें पुलिस में नौकरी मिली,मुआवज़ा के तौर पर 10 हजार रुपये। उनके परिवार में पिता, बड़ी बहन, मां रहते हैं।अब वे गुदरी पारा (नारायणपुर)में रह रहे है। उन्होंने कहा कि उन्हें रहने के लिए घर या जमीन नहीं मिली।सोमारू ने कहा कि उसने जमीन के लिए कलेक्टर को आवेदन दिया था लेकिन जमीन नहीं मिली।इसलिए वे सीजीनेट के साथियों से अनुरोध कर रहे है की अधिकारियों से बात कर जमीन दिलाने में मदद करें।संपर्क व्यक्ति नंबर:7585157232———————————————————————————————————————-Village: Ittawada, Gram Panchayat: Andawada, Block: Orchha, Police Station: Orchha, Somaru ji of District: Narayanpur, State Chhattisgarh said that he had come to live in Gudri Para (Narayanpur) in November 2017. On December 22, 2017, Somaru ji surrendered and got a job in the police, Rs 10,000 as compensation. His family consists of father, elder sister, mother. Now he is living in Gudri Para (Narayanpur). He said that he did not get a house or land to live. Somaru said that he had applied for the land to the collector but did not get the land. So he is requesting the CGNET colleagues to help him get the land by talking to the authorities. Contact Person No:7585157232

Posted on: Feb 01, 2023. Tags: CG LAND NARAYANPUR ORCHHA SURRENDER

« View Newer Reports

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »


YouTube Channel




Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download