राशन दुकान का सराहनीय कार्य, वितरण प्रणाली न्याय संगत...

ग्राम-बोरंड, जिला-नारायणपुर (छत्तीसगढ़) से हेमंत कुमार यादव जो कि बता रहे है| कि गाँव की राशन दूकान पर अनाज मिलता है. दुकान संचालक हेमंत कुमार यादव, बता रहे है. गाँव में 336 परिवार ग़रीबी रेखा से निचे जीवन यापन करने वाले है| अभी जो राशनकार्ड है, उनको लाभ दिया जाता है| बाकि लोंगों को राशन प्रणाली के हिसाब से दिया जायेगा. अभी पंचायत से बहार से आये लोंगों को राशन का लाभ दिया जाता है, जो कि गाँव से 25 किलोमीटर से ज्यादा है, यह कार्य बहुत ही सराहनीय है. जो हर राशन दुकान पर इस प्रकार का कार्य होना चाहिए. आभार के साथ धन्यवाद...

Posted on: Nov 14, 2019. Tags: MOHAN YADAV NARAYANPUR CG

सीसी रोड़ नहीं है, बारिश में बहुत कीचड़ रहता है, कृपया सीसी रोड़ बनवाने में मदद करे.

ग्राम-कुराढ़गाँव, जिला-नारायणपुर (छत्तीसगढ़) से ग्रामीण सुभ्रत, फूलसिंह, रामदर बता रहे है कि, गाँव के वार्ड 3-4 में सीसी रोड़ नहीं है, जिसके कारण बारिश के दिनों में कीचड़ बहुत हो जाता है, आने जाने में दिक्कत होती है| यहाँ पर करिबन 20 परिवार रहते है| ख़ासकर उनको ज्यादा समस्या होती है. इसकी शिकायत आवेदन ग्राम पंचायत में कियें है. हो जायेगा ऐसा बोलते है, परन्तु १५ वर्षो से इस समस्या को झेल रहे है| कृपया मदद करे ताकि पक्की सड़क बन सके. इसीलिए सीजीनेट के साथियों से अनुरोध कर रहे है कि, दिए गयें नम्बरों को फ़ोन लगाकर मदद करे. सचिव@7587171237. सरपंच@9407016687. ग्रामीण सम्पर्क@
7587274823.

Posted on: Nov 14, 2019. Tags: KANHIYALAL KEWAT NARAYANPUR CG

पहले यहाँ शेर बहुत हुआ करते थे, जिसके चलते गाँव का नाम "बाघडोंगरी" हो गया...

ग्राम-बाघडोंगरी, जिला-नारायपुर (छत्तीसगढ़) से मंगलराम पोटाई जो कि बाघडोंगरी पंचायत के सरपंच है, साथ है चैनसिंह पोटाई जो कि गाँव के बारे में जानकारी दे रहे है. बता रहे है कि गाँव नाम बाघडोंगरी कैसे पड़ा, पहले यहाँ पहाड़ जंगल बहुत हुआ करता था, तो यहाँ शेर भी बहुत रहते थे, जिसको की बाघ भी कहते है. डोंगर मतलब पहाड़ जंगल हो गया जिसके चलते गाँव का नाम बाघडोंगरी पड़ गया, पहाड़ के उस पार दूसरा गाँव है, फूलकोडो है. गोंडी ‘फूलकोडो’ अर्थ फूलोँ का बगीचा होता है. बाघडोंगरी को दोनों नाम से जाना जाता है. गोंडी में फूलकोडो के नाम से भी जाना जाता है. प्रकृति से जुड़े रहने के कारण पहले रहने वाले लोगों के द्वारा ज्यादातर गाँवो के नाम ऐसे ही पड़ते थे.

Posted on: Nov 14, 2019. Tags: MOHAN YADAV NARAYANPUR CG

छोटे-छोटे कदम हमारे, आगे बढ़ते जायेंगे...कविता-

ग्राम-चिनारी, जिला-नारायणपुर (छत्तीसगढ़) से मोहन यादव गाँव की प्राथमिक शाला के बालक-बालिकाओं, सेवंती, समोती, मनीष व अन्य साथियों से कविता सुन रहे है:-
छोटे-छोटे कदम हमारे, आगे बढ़ते जायेंगे-
पढ़ना कभी न छोड़ेंगे, हर दम पढ़ने जायेंगे-
छोटे-छोटे हांथ हमारे, गड्ढ़े खूब बनायेंगे-
इस गड्ढ़े में अच्छे सुन्दर, पौधे खूब लगायेंगे-
घर आंगन को साफ़ रखेंगे, गलिया साफ बनायेंगे-
कैसे जीना हमे चाहिए, जी कर हम दिखलायेंगे...

Posted on: Nov 13, 2019. Tags: MOHAN YADAV NARAYANPUR CG SONG

कविता : हाथी भालू दोनों में था, सच्चा-सच्चा मेल...

ग्राम-एड़का, हितुड़वाड़, जिला-नारायणपुर (छत्तीसगढ़) से कुमारी सुमित्रा एक छोटी सी कहानी सुना रही है:-
हाथी भालू दोनों में था, सच्चा-सच्चा मेल-
दोनों मिलकर खेल रहे थे, लूखा, छिपी का खेल-
हाथी बोला सुन रे भाई भालू, अब मै छिपने जाता हूँ-
पानी वाली जगह मिलूँगा, पक्की बात बताता हूँ-
हाथी भालू दोनों में था, सच्चा-सच्चा मेल...

Posted on: Nov 13, 2019. Tags: KIRTI SAHU NARAYANPUR CG

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download