शुद्ध पानी मनुन तडपते, मानवा सा जीव...मराठी गीत

मंदा देवेन्द्र लंजे, मुकाम-बोरदा, तहसील-वडता, जिला-गढ़चिरौली (महाराष्ट्र) से एक मराठी गीत गा रही है। गीत के माध्यम से यह बताया गया है कि पानी के लिए क्या-क्या परेशानियाँ उठानी पड़ती हैं और पानी को बचाकर रखने की बात इसमें कही गयी है :
शुद्ध पानी मनुन तडपते, मानवा सा जीव
मानवासी मानवा ला, ये नार का दीरे कीउ मानवा
काय पीता करता-करता, नयनि ये ई पानी
जखम पयासी सुधरत नाही , पीछे दुसरी होई मानवा
शुद्ध पानी मनुन तडपते...
पानी अडवा पानी गिरवा, येइ जासना की हमी
रास्ता परी तेब पानसा, पानी देवी से फूल मानवा
शुद्ध पानी मनुन तडपते, मानवा सा जीव
मानवासी मानवा ला, ये नार का दीरे कीउ

Posted on: Sep 02, 2014. Tags: Manda Lanje