फिर भी मासूम जनता को क्यों करना पड़ रहा है संघर्ष...कविता-

मुंबई से के के गौतम जो मध्यप्रदेश के रीवा जिले के निवासी हैं| वे मौसम के बारे में बताते हुये| एक कविता सुना रहे हैं:
अंग्रेजो को गवन किये बीते कईएक वर्ष-
फिर भी मासूम जनता को क्यों करना पड़ रहा है संघर्ष-
सपना तो राम राज्य का था, पर राज छिपाये जाते हैं-
बेगुनाह बेखौफ यहाँ, मौताज सताये जाते हैं-
क्या यही राजनीती है, तुम ही करो निश्कर्ष-
फिर भी मासूम जनता को क्यों करना पड़ रहा है संघर्ष...

Posted on: Jul 25, 2019. Tags: KK GAUTAM MUMBAI POEM

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download