कविता : अगर कंही मै घोडा होता वह भी लम्बा चौड़ा होता...

ग्राम-रक्सा, पोस्ट-फुनगा, थाना-भालूमडा, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से दिव्या जोगी एक कविता सुना रही हैं :
अगर कंही मै घोडा होता वह भी लम्बा चौड़ा होता-
तुम्हे पीठ पर बैठा करके बहोत तेज मै दौड़ा होता-
पलक झपकते मै उड़ जाता दूर पहाडियों के वादी में-
बाते करता उडी हवा से विनाये में आदि में-
अगर कंही मै घोडा होता वह भी लम्बा चौड़ा होता...

Posted on: Nov 14, 2019. Tags: ANUPPUR MP DIVYA JOGI SONG

गीत : राम जी से पूछाँय जनकपुर की नारी...

ग्राम-खजुराकला, पोस्ट-खजुराकला, तहसील-गुढ़, जिला-रीवा (मध्यप्रदेश ) से विजय कुमार कुशवाहा एक भजन सुना रहे हैं:
राम जी से पूछाँय जनकपुर की नारी-
बता दे क्या हुआ, हो बता क्या हुआ-
ये लोगवा काहे देत गारी रे हो बता क्या हुआ-
तुहरा से पूछूं मै ये धनुषधारी-
एक भाई गोर काहे एक काहे कारी-
बता दे क्या हुआ, हो बता क्या हुआ-
राम जी से पूछाँय जनकपुर की नारी-
बता दे क्या हुआ, हो बता क्या हुआ...

Posted on: Nov 14, 2019. Tags: REWA MP SONG VIJAY KUMAR KUSHWAHA

गणेश भजन : गिरजा की बेटा तोला कईथो लम्बोदर महा राज...

जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से लल्लू केवट जो कि दरबारी लाल केवट से एक गणेश भजन सुन रहे है:
गिरजा की बेटा तोला कईथो लम्बोदर महा राज-
स्वामी गजानन, स्वामी गजानन, स्वामी गजानन-
पान चड़े, फूल चड़े और चड़े मेवा-
लड्डूवन की भोग लगे संत करे सेवा-
माथे सिन्दूर सूहे मूस की सवारी-
स्वामी गजानन, स्वामी गजानन, स्वामी गजानन-
गिरजा की बेटा तोला कईथो, लम्बोदर महाराज-
स्वामी गजानन, स्वामी गजानन, स्वामी गजानन...

Posted on: Nov 13, 2019. Tags: ANUPPUR MP DARBARILAL KEWAT SONG

वीणा बजा दे तू माँ एक बार...सरस्वतीं वंदना-

ग्राम-मडमा,पोस्ट-कृष्णा नगर, धामनी, जिला-बलरामपुर (छत्तीसगढ़) से मीना यादव एक गीत सुना रही हैं :
हाथों में लेकर माँ वीणा के तार-
वीणा बजा दे तू माँ एक बार-
माँ मै तुझे एक पल भूल ना पाऊं-
तेरे चरणों में सदा शीश झुकाऊं-
आंचल में लेलो माँ मुझे एक बार-
वीणा बजा दे तू माँ एक बार...

Posted on: Nov 13, 2019. Tags: BALRAMPUR CG MEENA YADAV SONG

भजन : बकुला के पेट मा काटा गढ़ गे मछरी माजा उड़ाथे...

ग्राम-छोलकारी, पोस्ट-पसला , जिला-अनुपपुर (मध्यप्रदेश) से लल्लू केवट एक भजन गीत सुना रहें है:
रम रावण के मते लड़ाई, सीता जी को पाने को-
हनुमत ने छलांग लगाया, लंका को जलाने को-
नदिया के तीर तीर बकुला चरथे मछरी बिन बिन खाते-
बकुला के पेट मा काटा गढ़ गे मछरी माजा उड़ाथे-
बकुला के पेट मा काटा गढ़ गे मछरी माजा उड़ाथे...

Posted on: Nov 13, 2019. Tags: ANUPPUR MP LALLU KEWAT SONG

« View Newer Reports

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download