स्वास्थ्य स्वर: उल्टी दस्त का जड़ी बूटियों से घरेलु उपचार...

ग्राम पंचायत- कुमली,ब्लाक- मवई,जिला-मंडला (म.प्र.) के साथी मिठनलाल यादव जी हैं जो की आज गर्मी के दिनों में जो उल्टी दस्त होता है उसे कैसे ठीक किया जा सकता है इसके बारे में बता रहे हैं इसके लिए 10 ग्राम मैदा छाली,10 ग्राम परसा छाली,10 ग्राम पकरी छाली,इसको मिलाकर 30 ग्राम बनाये,और इसे 100 ग्राम पानी में घोल बनाकर उपयोग करने से दस्त उल्टी ठीक हो जाता है अधिक जानकारी के लिए फ़ोन करें- मिट्ठन लाला@7828287936

Posted on: Feb 11, 2019. Tags: Mitthanlal Yadav

आपका स्वास्थ्य आपके मोबाइल में: शरीर में सूजन (फुन्नी रोग) का घरेलू उपचार-

ग्राम-कुमली, पोस्ट-बाड़ीभानपुर, विकासखंड-मवई, जिला-मंडला (मध्यप्रदेश) से मिट्ठनलाल यादव आज फुन्नी रोग के घरेलू उपचार के बारे में बता रहे हैं. इस रोग में सूजन शरीर के निचले हिस्से से शुरू होता है और उसके बाद धीरे धीरे शरीर के ऊपरी हिस्से जिसमे हाथ, पैर एवं चेहरा भी सूज जाते है. वे बता रहे हैं कि एक वन औषधि जिसे काकोड़ा कहते हैं जिसकी सब्जी भी बनाते हैं, काकोड़ा) के कांदा को लाकर उसे सुखाया जाता है और इसे आलू के टुकड़ों की तरह छोटे छोटे काट लें और फिर कूट-कूट कर उनका पावडर बना लें और फिर रोगी को सुबह-शाम खाली पेट दो-दो चम्मच दे. धीरे-धीरे लगभग दो हफ्ते में रोगी को आराम हो जायेगा। इस रोग का एकदम जल्दी ठीकहोना होना भी ठीक नहीं है. मिट्ठनलाल@7828287936

Posted on: Feb 27, 2017. Tags: MITTHANLAL YADAV

आपका स्वास्थ्य आपके मोबाइल में : अकौना के औषधीय गुण...

ग्राम-कुम्हली, विकासखंड-मवई, जिला-मंडला (मध्यप्रदेश) से मिट्ठन लाल यादव अपरस की बीमारी जिसमे शरीर में खुजली होती, घाव होता है जिसे सोरायसिस चर्मरोग भी कहते है जो अक्सर पैरो में और हाथो में होता है वे आज इसके घरेलू इलाज के बारे में जानकारी दे रहे है वे कह रहे हैं कि अगर आप को या किसी को अपरस की बीमारी है तो उस जगह पर अकौना के पौधे का दूध का लेप लगाये एवं उसके ऊपर ग्रीस भी लगाये तो नमी बनी रहती है और थोड़े दिन में अपरस ठीक हो जाता है । अकौना का वे एक और गुण बता रहे हैं कि अकौना की जड़ को छीलकर उसके छिलके को एक चम्मच पाउडर बना के खाया जाये तो जो पेट के कीटाणु होते है वो ख़त्म हो जाते है| मिट्ठन लाल यादव@7828287936

Posted on: Feb 26, 2017. Tags: MITTHANLAL YADAV

आपका स्वास्थ्य आपके मोबाइल में : उच्च रक्तचाप नियंत्रित करने के घरेलू उपाय

ग्राम-कुमली, पोस्ट-धाड़ीभानपुर, विकासखंड-मवई, जिला-मंडला (म.प्र.) से वैद्य मिट्ठनलाल यादव वह उच्च रक्तचाप जिससे शरीर में लकवा मार देने का ख़तरा होता है उसका देहाती इलाज बता रहे हैं । वे बता रहे है एक पौधा सटका होता है. इसको देहाती भाषा में शन कहते हैं जिसका सुतली होता है और उसका बीज होता हैं । उस पौधे के छिलके को छीलते हैं जिससे सुतली बनती है | उसके 100 ग्राम बीज को पीसकर पावडर बना लें और उसका 21 गोली बनाया जाये और उनको 21 दिन तक सुबह शाम खिलाएं इससे ब्लड प्रेशर कंट्रोल में आ जाएगा और लकवे की आशंका ख़त्म हो जाएगी । अधिक जानकारी के लिए आप वैद्य मिट्ठनलाल यादव से 7828287936 पर संपर्क कर सकते हैं ।

Posted on: Oct 27, 2016. Tags: MITTHANLAL YADAV

आपका स्वास्थ्य आपके मोबाइल में: मधुमेह नियंत्रित करने के घरेलू उपाय

वैद्य मिट्ठनलाल यादव ग्राम कुम्हली, ब्लॉक मवई, जिला मण्डला, (मध्यप्रदेश) से मधुमेह या शुगर को नियंत्रत करने का घरेलू उपाय बता रहे है | वे बताते हैं कि शुगर रोगियों को नित्य गुड़बेल या गिलोय (Tinospora Cordifolia) की लता को काटकर 100 ग्राम की मात्रा में बारीक पीसकर 100 ग्राम पानी में घोल लेना चाहिए और उसका रस निचोड़कर, उसको खाली पेट में पीना चाहिए | इसे बीमारी के ठीक होने तक लगातार पीते रहे | दूसरा उपाय यह है कि 50 ग्राम नीम की पत्तियों को बारीक़ पीसकर 100 ग्राम पानी में उबालकर पीयें | दवाई की कड़वाहट से बीमारी ठीक हो जायेगी | यह एक लंबा प्रयोग है पर मधुमेह के रोगियों के लिए उपयोगी हो सकता है । मिट्ठनलाल यादव@7828287936

Posted on: Sep 27, 2016. Tags: MITTHANLAL YADAV

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download