गोंड मुड़िया माडिया हल्बा रंग-रंग ना जाति...गोंडी गीत

ग्राम-मरकाबेड़ा, जिला-नारायणपुर, छत्तीसगढ़ से राधा वड्डे गोंडी भाषा में एक गीत प्रस्तुत कर रही हैं, आदिवासी समाज का यह परंपरागत गीत है और बिभिन्न अवसरों पर गाया जाता है:
गोंड-मुड़िया-माड़िया-हल्बा रंग-रंग ना जाति-
कुब हुबे मा तोर मावा आदिवासी-
साय रे ला रे ला रे रे ला साय रे ला रे ला रे रे ला-
परा अन्कल हुल्की अन्कल पुष पोलू अन्कल-
पूना लेयोर पूना लेयोर मिले मॉस इन्दकड़-
साय रे ला रे ला रे रे ला साय रे ला रे ला रे रे ला....

Posted on: Mar 24, 2016. Tags: MANGLADAI WADDE

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download