कोई न हमार गुरु, कोई न हमार...भजन गीत

ग्राम-तीरकुंडा, रामानुजगंज, जिला-बलरामपुर (छत्तीसगढ़) से कक्षा पांचवी के छात्र मंदेश कुमार यादव एक भजन सुना रहे हैं:
तारों से तार गुरु, कोनो ऐसे बात गुरु-
कोई न हमार गुरु, कोई न हमार-
पहिला अरजिया कोई न, हमार गुरु-
तारों से तार गुरु, कोनो ऐसे बात गुरु-
दुसरा अरजिया सुनो मेरी माता-
कोई न हमार गुरु, हमार गुरु कोई न हमार...

Posted on: Apr 18, 2018. Tags: MANDESH KUMAR YADAV

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download