कोई न हमार गुरु, कोई न हमार...भजन गीत

ग्राम-तीरकुंडा, रामानुजगंज, जिला-बलरामपुर (छत्तीसगढ़) से कक्षा पांचवी के छात्र मंदेश कुमार यादव एक भजन सुना रहे हैं:
तारों से तार गुरु, कोनो ऐसे बात गुरु-
कोई न हमार गुरु, कोई न हमार-
पहिला अरजिया कोई न, हमार गुरु-
तारों से तार गुरु, कोनो ऐसे बात गुरु-
दुसरा अरजिया सुनो मेरी माता-
कोई न हमार गुरु, हमार गुरु कोई न हमार...

Posted on: Apr 18, 2018. Tags: MANDESH KUMAR YADAV