जो बिना कहे सुन ले उसे दोस्त कहते है...कविता-

ग्राम-छतरपुर, पोस्ट-गजराज, विकासखंड-घुघरी, जिला-मंडला (मध्यप्रदेश) से मोहन मरावी दोस्ती को लेकर एक कविता सुना रहे हैं:
जो बिना कहे सुन ले उसे दोस्त कहते हैं-
जो सुन ले और कुछ न कहे उसे दोस्त कहते हैं-
जो सह ले सब गलतियाँ उसे दोस्त कहते हैं-
जो कंधे से कन्धा मिला दे उसे दोस्त कहते हैं-
जो समझे बूझे और बर्ताव करे उसे दोस्त कहते हैं-
जो ढेर सारा प्यार करे उसे दोस्त कहते हैं...

Posted on: Aug 18, 2019. Tags: MANDALA MOHAN MARAWI MP POEM

« View Newer Reports

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »


YouTube Channel




Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download