इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से निकले...भजन गीत

ग्राम-छुल्कारी, पोस्ट-पसला, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से मंदाकनी मिश्रा एक भजन गीत सुना रही है:
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से निकले – गोविन्द नाम ले कर मेरे प्राण तन से निकली-
श्री गंगा जी का तट हो यमुना का बंशी बट हो-
निरा साव लानी कट हो जब प्राण तन से निकली-
श्री बन्दा बन का थल हो मेरे मुख के तुलसी दल हो-
दिस नौ चरण का जल हो जब प्राण तन से निकली....

Posted on: Aug 04, 2018. Tags: ANUPPUR HINDI SONG MANDAKINI MISHRA

चम्पा के तेले फुले ले बालकये कलिया बनी...शादी गीत

ग्राम-छुल्कारी, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से मंदाकनी मिश्रा एक शादी गीत सुना रही है:
चम्पा के तेले फुले ले बालकये कलिया बने-
अपने बाबा के आई लडे लइता चढ़े ओके हल्दी चढ़े-
अपने दादी के आई लडे लइता चढ़े ओके हल्दी चढ़े-
चम्पा के तेले फुले ले बालकये कलिया बनी-
अपने पापा के आई लडे लइता चढ़े ओके हल्दी चढ़े-
अपने मंमी के आई लडे लइता चढ़े ओके अंग भरे-
चम्पा के तेले फुले ले बालकये कलिया बनी...

Posted on: Jul 11, 2018. Tags: ANUPPUR MP MANDAKINI MISHRA SONG

ॐ कारा ॐ कारा बड़ा प्यारा लगे मेरा ॐ कारा...भजन गीत

ग्राम-छुलकारी, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से मंदाकनी मिश्रा एक भजन गीत सुना रही हैं :
ॐ कारा ॐ कारा बड़ा प्यारा लगे मेरा ॐ कारा-
ओ भोले बाबा पलक नही खोले, पलक नही खोले नयन नही खोले-
गंगा धारा, गंगा धारा, बड़ा प्यारा लगे मेरा ॐ कारा-
डमरू वाला, डमरू वाला, बड़ा प्यारा लगे मेरा ॐ कारा-
बाघंबर धारा, बाघंबर धारा बड़ा प्यारा लगे मेरा ॐ कारा-
ॐ कारा ॐ कारा बड़ा प्यारा लगे मेरा ॐ कारा...

Posted on: Jul 09, 2018. Tags: ANUPPUR MP MANDAKINI MISHRA SONG

बने फूलो कचनार करोंदा मईया बन फूलों...देवी गीत

ग्राम-छुल्कारी, पोस्ट-पसला, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से मंदाकनी मिश्रा एक देवी गीत सुना रही है:
बने फूलो कचनार करोंदा मईया बन फूलों-
कहा लगाओ मईया बिला चमेली-
कहा लगाउ अनार करोंदा मईया बन फूलों-
बगियाँ लगाओ मईया बिला चमेली-
अंगना लगाओ अनारकरोंदा मईया बन फूलों-
काहे में सिचु मईया बिला चमेली...

Posted on: Jul 05, 2018. Tags: ANUPPUR MP MANDAKINI MISHRA SONG

मै ऐसी गारी गांउ लाला सरकत जाए सोंहारी...गारी गीत-

ग्राम-छुलकारी, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से मंदाकनी मिश्रा एक गारी गीत सुना रही हैं :
मै ऐसी गारी गांउ लाला सरकत जाए सोंहारी-
काहेन के तोर बेलन बने हैं, काहेन के चौपाई-
चंदन के तेरी बेलन बनो है, चंदन की चौपाई-
काहेन के तोर पूड़ी बनो हैं, काहेन के तरकारी-
मैदे की पूड़ी बनो हैं कटहल की तरकारी-
चारो भईया जेवन बैठे, परसे है महतारी...

Posted on: Jul 01, 2018. Tags: MANDAKINI MISHRA

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download