अजवाइन और हींग में लहसुन तेल पकाय-, मालिस जोड़ो की करे, दर्द दूर हो जाये...कविता

ग्राम-उभेगाव, जिला-छिन्दवाडा, (मध्यप्रदेश) से माला धुर्वे आयर्वेद से सम्बन्धित
एक कविता सुना रही हैं :-
ठंड लगे जब आप को, सर्दी से बेहाल – नीबू,मधु के सांथ में, अदरक पियें उबाल-
लाल टमाटर लीजिए, खीर सहित इसमें है-
ज्यूस, करेला सांथ हो दूर रहे मधुमेह-
अजवाइन और हींग में लहसुन तेल पकाय-
मालिस जोड़ो की करे, दर्द दूर हो जाये...

Posted on: Feb 28, 2019. Tags: MALA DHURVE

आपका स्वास्थ्य आपके मोबाइल में : शिशु को स्तनपान कराने का सही तरीका

ग्राम-उभेगाँव, जिला-छिन्दवाडा, (मध्यप्रदेश) से माला धुर्वे से महिलाओं के स्तनपान करने का सही तरीका बता रही है ,माँ को नवजात शिशु को जन्म के समय होने वालेप्रथम स्तन स्त्राव को तुरंत पिलाना चाहिए जिससे शिशु के बीमारियों से लड़ने की प्रतिरोधक क्षमता बढती है, अधिकांशतः माँ के स्तनपान कराने से शिशु को कोई बीमारी नहीं होती है ,हल्का-फुल्का बुखार होने पर शिशु को दूध पिलाना नहीं बंद करना चाहिए, स्तन में खुजली या अन्य कोई समस्या होने पर अनुचित दवाओं का प्रयोग न करें, चिकित्सीय-परामर्श के बाद जब तक दवा ले रही हैं तब तक शिशु को स्तनपान न कराएं ,जब तक स्तनपान कराती हैं तब तक चुस्त ब्रा या ब्लाउज का प्रयोग न करें, गर्मियों के मौसम में स्तन के अग्र भाग को पानी से धोएं तथा शिशु का मुहं धोये और फिर स्तन पान कराएं ,स्तन-पान करते समय शिशु को हसाना नहीं चाहिए नहीं तो बच्चे के फंदा लग सकता है |

Posted on: Feb 22, 2019. Tags: MALA DHURVE

आपका स्वास्थ्य आपके मोबाइल में : गर्भवती महिलाएं और उनका आहार-विहार

ग्राम-उभेगाँव, जिला-छिन्दवाडा, (मध्यप्रदेश) से माला धुर्वे गर्भवती महिलाओ के बारे में बता रही है कि गर्भवती महिलाये दो हर्रदयनी होती है एक उसका ह्रदय और दूसरा शिशु का ह्रदय| हमारे शरीर में और आचार-विचार का उतना ही प्रभाव पड़ता है जितना की आहार विहार में होता है, इस बात का ध्यान गर्भवती महिलाओ को विशेष रूप से रखना होगा| क्योंकि उनके आचार-विचार एवं आहार विहार और स्वास्थ पर ही नहीं बल्कि उनके गर्भ में पल रहे शिशु को भी प्रभाव पड़ता है | गर्भवती महिला का घर वालो को उसका ध्यान रखना चाहिए |

Posted on: Feb 21, 2019. Tags: MALA DHURVE

आपका स्वास्थ्य आपके मोबाइल में : जलपरी पत्ते से आयुर्वेदिक् इलाज

ग्राम-उभेगाँव, जिला-छिन्दवाड़ा (मध्यप्रदेश) से माला धुर्वे के साथ आज राजाकोर गाँव के महेंद्र कुमरे जुड़े है जो हाथ पैर और शरीर दर्द के कुछ आयुर्वेदिक् इलाज बता रहे है जो नदी के किनारे पाया जाता है जिसको जलपरी कहते है और वह प्याज के सामान उसके पत्ते होते है और इसके बीज का उपयोग होता है और ये पेड़ पूरा ही कामी है और ये डिलेवरी वाली महिलाओ के लिए बहुत लाभदायक होता है | महेंद्र@8085472750.

Posted on: Feb 20, 2019. Tags: MALA DHURVE

आपका स्वास्थ्य आपके मोबाइल में : पीलिया का घरेलु उपचार

माला धुर्वे, ग्राम-उभेगाँव, जिला-छिंदवाडा, (म.प्र.) से, कनेर के वृक्ष के औषधीय गुणों के बारे में जानकारी दे रही है इसे देहाती भाषा में इंद्राउन भी कहते है, यह पेड़ अधिकांशतः जंगलों में पाया जाता है, इसके फल गोल होते हैं, जो पकने पर लाल रंग के हो जाते हैं इस पेड़ के फलों को हम वर्षा ऋतू में प्राप्त कर सकते हैं अधिकतर ग्रामीण लोग इसको घरों में लगाकर, इस फल को घरों में बांध देते |
पीलिया में प्रयोग करने की विधि-कनेर के फल के दो बीज को आग में भून कर, गाय के घी में लगातार सात दिनों तक प्रयोग करने पर पीलिया रोग में आराम मिलता है |
संपर्क सूत्र@7582859962

Posted on: Feb 19, 2019. Tags: MALA DHURVE

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download