5.6.31 Welcome to CGNet Swara

हरी भजन ला तै नई जाने भईया रे...छत्तीसगढ़ी भजन -

ग्राम-छुलकारी, पोस्ट-पसला, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से लालू केवट अपने सांथी बेसाहूलाल केवट, गजरूप सिंह, मनबहोर केवट के सांथ एक भजन सुना रहे हैं :
हरी भजन ला तै नई जाने भईया रे – राम भजन ला तै नही जाने – ये जीवन नई आय कौनो काम के – सोंन नदी के तीरे हवए हमर गाँव गा – जिला अनूपपुर छुलकारी मोर गाँव गा – भजन गवैया और बैठे भजन सुनैया रे – हरी भजन ला तै नई जाने...

Posted on: Jan 04, 2018. Tags: LALLU KEWAT

हाय रे निगोड़े काया घेरे हवय तोला माया...भजन -

ग्राम-छुल्कारी, पोस्ट-पसला, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से लल्लू केवट अपने सांथी रामलाल केवट, रूपसिंह, मनबहोर केवट के सांथ एक छत्तीसगढ़ी भजन सुना रहे हैं :
हाय रे निगोडी काया घेरे हवय तोला माया – तै हा भुलागे हरी नाम राम भजन ला नही गाए –
निरमोही भईया हरी के भजन ला नही करे – नही पाबे अब तो भईया ये मानुष के चोला ना – देखे बर तरस जाबे ये छुलकारी के टोला ना – हाय रे निगोड़े काया घेरे हवय तोला माया...

Posted on: Jan 04, 2018. Tags: LALLU KEWAT

भजन करो हरि नाम के मोर भईया...भजन -

ग्राम-छुल्कारी, पोस्ट-पसला, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से लल्लू केवट एक भजन सुना रहे हैं :
भजन करो हरि नाम के मोर भईया – पैसा लगे ना रूपया लागे कौड़ी लागे ना दाम – साधू के तै संघत कर ले रामनाम नही गाए – तोला कौन बताही रास्ता विरोही तै अगोर तो ले ले – भजन करो हरि नाम के मोर भईया...

Posted on: Dec 25, 2017. Tags: LALLU KEWAT

सतगुरु जी से जिनका संबंध है, उनका हर घड़ी आनंद ही आनंद है...भजन-

ग्राम-छुल्कारी, पोस्ट-पसला, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से लल्लू केवट एक सतगुरु भजन सुना रहे हैं :
सतगुरु जी से जिनका संबंध है – उनका हर घड़ी आनंद ही आनंद है –
संत ऋषियों की वाड़ी को मानो – प्रेम भक्ति की महिमा को मानो – जिनको सत्संग हरदम पसंद है – छोटी ममता का कर के किनारा – ले के सतगुरु जी का सहारा...

Posted on: Dec 10, 2017. Tags: LALLU KEWAT

खुमरी के ओढईया नागर बैला के जोतईया ना...लोक गीत -

ग्राम-छुल्कारी, पोस्ट-पसला, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से लल्लू केवट एक लोक गीत सुना रहे हैं :
खुमरी के ओढईया नागर बैला के जोतईया ना – माया ले जा रे मोर गाँव के – हो दया मया ले जा गा हमर गाँव के – संझा संझा घर आपन आथन गा – ढुकुर ढुकुर पेज पी के अपन जिन्दगी बिताथन गा – खुमरी के ओढईया नागर बैला के चारईया...

Posted on: Dec 09, 2017. Tags: LALLU KEWAT

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download


From our supporters »