शिव भजन : जप ले शिव का नाम रे मनवा, जप ले शिव का नाम रे मनवा...

ग्राम-छुलकारी, पोस्ट-पसला, जिला-अनुपपुर (मध्यप्रदेश) से लल्लू केवट एक शिव भजन सुना रहें है:
जप ले शिव का नाम रे मनवा, जप ले शिव का नाम रे मनवा-
सुमिरन करले महा देव का, जप ले शिव का नाम वा-
बने गा बिगड़े गा काम, जप ले शिव का नाम वा-
क्यों अभिमान में फूला तू , बिना डोर के झुला है तू-
जगत गुरु को वही आएगा, काम रे मनवा-
सुमिरन करले महादेव का, बनेगा बिगड़े काम रे मनवा...

Posted on: Nov 02, 2019. Tags: ANUPPUR MP LALLU KEWAT SONG

भजन : तुम्हर सुन के बोली महू चले आयों राम...

ग्राम-छुलकारी,पोस्ट पसला,जिला अनुपपुर (मध्यप्रदेश ) से लल्लू केवट एक भजन सुना रहे हैं:
तुम्हर सुन के बोली महू चले आयों राम-
तुम्हर जय मनाओ गा गणपति महाराज-
गजानन,जय गणेश जय गणेश देवा माता-
जाकी पार्वती,पिता महादेव तुम्हर जय मनाओ-
पान चढ़े,फूल चढ़े और चढ़े मेवा लडुवन की भोग-
लगे संत करे सेवा तुम्हर जय मनाओ गा गणपति-
तुम्हर सुन के बोली महू चले आयों राम...

Posted on: Oct 23, 2019. Tags: ANUPPUR MP LALLU KEWAT SONG

भक्ति गीत : आस लगा के तुम्हरो शरण मा टिकों मै माँ पांव...

ग्राम-छुलकारी,पोस्ट पसला,जिला अनुपपूर (मध्यप्रदेश ) से लल्लू केवट एक भक्ति गीत सुना रहे हैं:
आस लगा के तुम्हरो शरण मा टिकों मै माँ पांव-
तुम्हरो कृपाल तुम्हारो दाई गाँओ अमृत गाथा-
सुना ओ दाई सुना ओ बहिनी मईयां के महिमा बतावा थे-
चंद्रदेशनी बल-थल दाई अमृत गाथा गावा थे-
चन्द्रदेशनी बन मग चारक छोटे बहिनी मन मग-
आस लगा के तुम्हरो शरण मा टिकाऊँ मै माँ पांव...

Posted on: Oct 21, 2019. Tags: ANUPPUR LALLU KEWAT MP SONG

भक्ति गीत : ये मैया तोर भुवाना हो मैया तोर भुवाना...

ग्राम-छुलकारी, पोस्ट-पसला, जिला-अनुपपुर (मध्यप्रदेश) से लल्लू केवट एक भक्ति गीत सुना रहें है:
ये मैया तोर भुवाना हो मैया तोर भुवाना-
महारे-महारे करे केतकी अउ केवरा दाई तोर भुवाना-
कोन चढ़ावे माई केतकी और केवरा-
कोन चढ़ावे भुवा नार हो माँ-
ये मैया तोर भुवाना हो मैया तोर भुवाना-
राजा चढ़ावे केतकी अउ केवरा-
रानी चढ़ावे भुवा नार हो माँ-
कये पानी छिचे मैया केतकी अउ केवरा-
कये पानी छिचे भुवा नार हो माँ-
ये मैया तोर भुवाना हो मैया तोर भुवाना...

Posted on: Oct 19, 2019. Tags: ANUPPUR MP LALLULAL KEWAT SONG

जीवन ख़त्म हुआ तो जीने का ढंग आया...कविता-

ग्राम-छुलकारी, पोस्ट-पसला, जिला-अनुपपुर (मध्यप्रदेश) से लल्लू केवट एक कविता सुना रहे हैं:
जीवन ख़त्म हुआ तो जीने का ढंग आया-
जब बुझ गई समा तो महफ़िल में रंग आया-
मन की मशीनरी में जब काम करना सिखा-
तब बूढ़े तन के हर एक पुर्जे में जंग आया-
गाड़ी निकल गई जब घर से चला मुसाफिर-
मयूर हाँथ मलता वापस बेरंग आया-
जीवन ख़त्म हुआ तो जीने का ढंग आया...

Posted on: Oct 18, 2019. Tags: ANUPPUR MP LALLU KEWAT SONG

« View Newer Reports

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download