परम पिता से प्यार नही रहे तो फिर व्यवहार नही...गीत-

ग्राम-रिमारी, जिला-सीधी (मध्यप्रदेश) से लालजी वैश्य एक संजीवनी गीत सुना रहे है :
परम पिता से प्यार नही रहे तो फिर व्यवहार नही-
इसीलिए तो आज देख लो कोई सुखी परिवार नही-
आम फूल-फल मेवा हमको समय-समय पर देता है-
लेकिन है इतना उधार बदले में कुछ नही लेता है-
देने में इंकार नही देत भाव तकरार नही-
ऐसे दानी का तू बंदे माने क्यों उपकार नही-
मानव के चोले में जाने कितने अंत लगाए हैं...

Posted on: Aug 05, 2018. Tags: HINDI SONG LALJI WAISHY

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download