धरती सुनहरी अम्बर नीला हर मौसम रंगीला, ऐसा देश हैं मेरा...देशभक्ति गीत

किरण प्रजापति ग्राम-खैरहां, तहसील-सिरमौर जिला- रीवा मध्यप्रदेश से एक देशभक्ति गीत सुना रही है:
धरती सुनहरी अम्बर नीला हर मौसम रंगीला-
ऐसा देश हैं मेरा ओ ओ ऐसा देश हैं मेरा-
गेहूं के खेतों में जब ठंडी खड़े हवाएं-
रंग बिरंगी तितली सुनहारियाँ उड़ जाए-
कदम-कदम पे हर मिल जानी अपनी प्रेम कहानी-
ऐसा देश हैं मेरा ओ ओ ओ ओ ऐसा देश है मेरा-
धड़कन घटने पन्हर रंग जब पानी भरने आई
मधुर-मधुर तारो से जब बंसी कोई बजाए-
कदम-कदम पे हर मिल जानी अपनी प्रेम कहानी-
ऐसा देश हैं मेरा ओ ओ ओ ओ ऐसा देश है मेरा...

Posted on: Mar 01, 2017. Tags: Kiran Prajapati

हाय हाय दाहा देखे गेलीअई ,मकईया तोड़ी लेलीअई...झरनी गीत

मुस्लिम समुदाय द्वारा ताजिया निकालने के समय गाया जाने वाला सामूहिक झरनी गीत उषाकिरण जी पक्कीसराय जिला-मुजफ्फरपुर (बिहार) से सुना रही हैं:
हाय हाय दाहा देखे गेलीअई ,मकईया तोड़ी लेलीअई-
धईये लेलई राजा के सिपहीये हाय हाय-
हाय -हाय छोड़ी दहु आहे राजा हमरो अंचरवां-
रोअत होईहे गोदी के बलकवा हाय हाय-
हाय -हाय अब ही त हऊ गे छौड़ी बारह बरिसवा-
कहाँ से लएले गोदी के बलकवा हाय हाय-
हाय -हाय बारह बरिस बाबा कैलक बिअहवा-
ओही से लएली गोदी के बलकवा हाय-हाय...

Posted on: Nov 27, 2016. Tags: USHA KIRAN

माथे की बिंदी हैं हिंदी: हिंदी दिवस के अवसर पर रचना...

उषा किरण विश्व हिंदी दिवस के अवसर पर एक रचना सुना रही है:
हिंदी ह्रदय की धड़कन हैं, काया है हिन्दुस्तान का-
माथ के बिंदी हैं हिंदी, भाषाओं के श्रृंगार का-
कण-कण में माधुर्य है अविरल हिंदी के रसधार का-
मीठी किलकारी हैं हिंदी, हिमालय के प्राण का...

Posted on: Sep 14, 2016. Tags: USHA KIRAN

कौन नगरिया से जोगिए कहाएल रामा...नचारी गीत

उषा किरण जिला-मुजफ्फरपुर (बिहार) से नचारी गीत सुना रही हैं :
कौन नगरिया से जोगिए कहाएल रामा-
रामा कवन नगर जोगी धुनिया रमाये हे-
लिखहे न लेव जोगी भूखहु न बोले हे-
रामा एकटा के जोगी गउरी कुमारी है-
जब तूहु आहे जोगी गउरी बिअहवा गे-
राम गउरी विअहवा रामा अनुगह आहे जोगी सेन्दुरा बहुत हे-
हमरा देखे दी सासु सिंदूर न होय हे-
रामा विभूति से आये सासू होए द बियहवा हे...

Posted on: Sep 08, 2016. Tags: USHA KIRAN

फूल लोड चल ले गौरा बाबा फूल भारिये...तीज त्यौहार गीत

जिला-मुजफ्फरपुर (बिहार) से उषा किरण तीज त्यौहार के उपलक्ष्य में एक गीत सुना रही हैं:
फूल लोड चल ले गौरा बाबा फूल भारिये-
बस हाँ चढ़ा ले महादेव-
पारा ले गारिये बस हाँ चढ़ा ले महादेव-
फूल लोड चल ले गौरा बाबा फूल...

Posted on: Sep 07, 2016. Tags: USHA KIRAN

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download