भजन गीत : करते हैं हम शुरू आज का काम प्रभु...

ग्राम-तालडेबरी, पोस्ट-पोथली, जिला-रायगढ़ (छत्तीसगढ़) से कुश कुमार अजगंडे एक भजन सुना रहे है:
सुबह सबेरे लेकर तेरा नाम प्रभु-
करते हैं हम शुरू आज का काम प्रभु-
शुद्ध भाव से तेरा ध्यान लगाये हम-
विद्या का वरदान तुम्ही से पाये हम-
तुम्ही से है आगाज तुम्ही अंजाम प्रभु-
करते हैं हम शुरू आज का काम प्रभु-
गुरुओ का सत्कार कभी न भूले हम-
इतना बने महान गगन को छुले हम-
तुम्ही से हर सुबह तुम्ही से शाम प्रभु-
करते हैं हम शुरू आज का काम प्रभु-
सुबह सबेरे लेकर तेरा नाम प्रभु-
करते हैं हम शुरू आज का काम प्रभु...

Posted on: Nov 15, 2019. Tags: KUSH KUMAR RAIGARH CG SONG

कृष्ण भजन : हे कृष्ण गोपाल हरि हे दीनदयाल हरि...

ग्राम-तालदेवरी, जिला-रायगढ़ (छत्तीसगढ़) से कुश कुमार एक कृष्ण भजन सुना रहें है:
हे कृष्ण गोपाल हरि हे दीनदयाल हरि-
तुम करता तुम ही तारण हे परम कृपाल हरि-
हे दीनदयाल हरि रथ हांके रणभूमि में और-
धर्म योग के मार्ग बताये अजय अमर है परमतत्व्यी-
काया के दुःख-सुख समझाये सखा सारथी शरणागत के-
सदा प्रतिपाल हरि हे दीनदयाल हरि हे कृष्ण गोपाल हरि-
हे कृष्ण गोपाल हरि हे दीनदयाल हरि...

Posted on: Oct 14, 2019. Tags: KUSH KUMAR RAIGADH CG SONG

कृष्णा भजन : श्यामा आप बसो बृंदावन में...

ग्राम-तालदेवरी, जिला-रायगढ़ (छत्तीसगढ़) से कुश कुमार एक कृष्ण भजन सुना रहें है:
श्यामा आप बसो बृंदावन में-
मेरी उमर बीत गई गोकुल में-
श्यामा रश्ते पे बाग लगा जाना-
फूल बिनुगी तेरी माला के लिये-
मै बाग निहारूं कुंजन में-
मेरी उमर बीत गई गोकुल में-
श्यामा रश्ते पे कुंआ खुदवा जाना-
मै तो नीर भरुंगी तेरे लिये-
मै तुम्हे नहलाऊँ मल-मल के-
मेरी उमर बीत गई गोकुल में-
श्यामा आन बसो बृंदावन में-
मेरी उमर बीत गई गोकुल में...

Posted on: Oct 13, 2019. Tags: KUSH KUMAR RAIGADH CG SONG

कृष्ण भजन : राधे गोविंद राधे गोविंद-

ग्राम-तालबेहरी, तहसील-सारंगगढ़, जिला-रायगढ़ (छत्तीसगढ़ ) से कुश कुमार अजगंडे एक कृष्ण भजन सुना रहे हैं:
राधे गोविंद राधे गोविंद-
गोपाला भज ले नाम, मन सुबह-शाम-
जीवन तेरा तर जायेगा बन जायेगा मनमा रे-
तेरे बिगड़े काम, तेरे बिगड़े काम-
सुख के हैं साथी सारे दुःख में न कोय-
खोल मन की आंखे, कहे रहा सोच-
गोपाला भज ले नाम, मन सुबह-शाम...

Posted on: Oct 11, 2019. Tags: CG KUSH KUMAR RAIGARH SONG

गजल : चिठ्ठी न कोई सन्देश, जाने ओ कौन सा देश...

ग्राम-तालदेवरी, तहसील-सारंगगढ़, जिला-रायगढ़ (छत्तीसगढ़ ) से कुशकुमार एक गजल सुना रहा हैं:
चिठ्ठी न कोई सन्देश, जाने ओ कौन सा देश-
जहाँ तुम चले गये-
इस दिल पे लगा के ठेस, जाने ओ कौन सा देश-
जहाँ तुम चले गये-
एक आह भरी होगी, हमने न सुनी होगी-
जाते-जाते तुमने, आवाज तो दी होगी-
हर वक्त यही है गम, उस वक्त कंहा थे हम-
जहाँ तुम चले गये-
चिठ्ठी न कोई सन्देश, जाने ओ कौन सा देश-
जहाँ तुम चले गये-
अब यादों के आतेकांटे, इस दिल में रहते हैं-
न दर्द ठहरता है, न आंसू चुभते है-
तुम्हे ढूढ़ रहा है प्यार, हम कैसे करे इकरार-
जहाँ तुम चले गये-
चिठ्ठी न कोई सन्देश, जाने ओ कौन सा देश-
जहाँ तुम चले गये-

Posted on: Oct 11, 2019. Tags: KUSH KUMAR RAIGADH CG SONG

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download