कोड़ा लो मै जोता लो मसरया मै बना लो...कुडुक खेती गीत-

ग्राम-गोरठी, पंचायत-जनावल, प्रखण्ड-चैनपुर, जिला-गुमला (झारखण्ड) से रीता कुजूर अपने सांथियो के सांथ खेती बड़ी से संबंधित एक गीत कुडुक भाषा में सुना रही हैं :
कोड़ा लो मै जोता लो मसरया मै बना लो-
मसरया में के गोटा जना-
हा मै रे मसरया में के गोटा जना मै-
हय कटा लो मै मेसा लो ना पानो मै जोकालो-
न पेरा रे जोके रा सालो रे मैना...

Posted on: Aug 19, 2018. Tags: GUMLA JHARKHAND KUDUK RITA KUJUR SONG

राजी रायली बुलो लो देव से देव से बुला लो रे राम...शादी गीत

ग्राम-जनावल, प्रखण्ड-चैनपुर, जिला-गुमला (झारखण्ड) से फुल्मिना कुजूर और बिर्जत कुजूर एक शादी गीत सुना रहे है गीत का अर्थ है शादी के लिए लड़की ढून्ढ रहे है और लड़की नही मिल रही है:
राजी रायली बुलो लो-
देव से देव से बुला लो रे राम-
आयो नही मिले बईया-
आरोऊ रोजो रे सानिया-
यो रे दनी मिले रे बईया-
राव रोजो रे कनिया – राजी रायली बुलो लो-
देव से देव से बुला लो रे राम...

Posted on: Aug 16, 2018. Tags: BIRJAT KUJUR FULMINA KUJUR GUMLA HINDI SONG JHARKHAND

जागो रे जाग उठो मेरे महिला जागो रे महिला हो...महिला जागरूकता गीत

ग्राम-तिगावल, पोस्ट-चैनपुर, जिला-गुमला (झारखण्ड) से हेलेंना तिर्की, तागरेन कुजूर, प्रभा तिर्की और सुखमा देवी एक समूह गीत सुना रहे हैं:
जागो रे जाग उठो मेरे महिला जागो रे महिला हो-
गांव की सेवा में जागो मेरे महिला हो-
जागो रे जाग उठो मेरे महिला जागो रे महिला हो-
समाज के में जागो मेरे महिला हो-
जागो रे जाग उठो मेरे महिला जागो रे महिला हो-
गांव की सेवा में जागो मेरे महिला हो...

Posted on: Aug 09, 2018. Tags: GUMLA HELENA TIRKI JHARKHAND PRABHA TIRKI SONG TAAGREN KUJUR

करम करम बादी पेलो कोय करम निगे करा नेगू रा...कुडुक भाषा में कर्मा गीत-

ग्राम-बेंदोरा, प्रखण्ड-चैनपुर, जिला-गुमला (झारखण्ड) से परबिल्ला तिग्गा, पुष्पा तिग्गा, जयंती कुजूर और अंजली एक्का कुडुक भाषा में एक कर्मा गीत सुना रहे है :
करम करम बादी पेलो कोय करम निगे करा नेगू रा-
आ ई रे करम निगे सरा गेनू रा-
करम करम बादी पेलो कोय करम निगे करा नेगू रा-
करा गेते नेते यया के रानो नोडया पेवर जो पैरी जवा-
करम करम बादी पेलो कोय करम निगे करा नेगू रा...

Posted on: Aug 09, 2018. Tags: GUMLA JAYANTI KUJUR JHARKHAND KUDUK PARBILLA TIGGA PUSHPA TIGGA SONG

जगा रे आदिवासी भाई बहिन भाई सगा-सगा...जागरूकता गीत

ग्राम-बरटोली, पंचायत+प्रखंड-चैनपुर, जिला-गुमला (झारखंड) से संध्या कुजूर और एलसी खुशबू कुजूर एक जागरूकता गीत सुना रहे है:
जगा रे आदिवासी भाई बहिन भाई सगा-सगा-
गांव जगा टोला जगा जगा-जगा-
जगा रे आदिवासी भाई बहिन भाई सगा-सगा-
जंगल के बचायक लागिन जगा-जगा-
जमीन के बचायक लागिन जगा-जगा-
जगा रे आदिवासी भाई बहिन भाई सगा-सगा...

Posted on: Aug 07, 2018. Tags: GUMLA HINDI SONG LE KHUSHBU KUJUR SANDHYA KUJUR

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download