मान दादा ने सायो रे मनका...कुड़ुख भाषा में उरांव आदिवासी गीत-

जिला-जशपुर (छत्तीसगढ़) से संगीता एक्का एक कुड़ुख भाषा में उरांव आदिवासी गीत सुना रही हैं:
मान दादा ने सायो रे मनका-
सड़क भरा ने सैलो रे मनका-
नाम दादा ने सायो रे मनका-
मान दादा ने सायो रे मनका-
सड़क भरा ने सैलो रे मनका-
नाम दादा ने सायो रे मनका... (AR)

Posted on: Jun 25, 2020. Tags: CG JASPUR KUDUKH ORAON SANGEETA EKKA SONG

रा नागी खड़ा निंदा वागी, गूच दादा निंगना परना...कुडुक भाषा में विवाह गीत

ग्राम पंचायत-पेनकोड़ो, तहसील-पखांजूर, जिला-उत्तर बस्तर कांकेर (छत्तीसगढ़) से गांव के निवासी दसिंता, निर्मला, अनीता और मनोरा ओरांव आदिवासियों की भाषा कुडुक में एक गीत सुना रही हैं इस गीत को रिश्ता करते समय गाया जाता है:
रा नागी खड़ा निंदा वागी, गुचा दादा निंगना परना-
हाय गुचा दादा निगना परना ना-
जैल जुमा रे हेरावत ते तेवरा लागी खड़ा निदा लागी लागे-
नोय रे गुचा दादा निगना परना नोय-
जैल जुमा रे हेरावमति रे सेवा रे दाद दिलवा जेकरे जेकरो जरायो...

Posted on: Sep 19, 2018. Tags: CG KANKER KUDUK MARRIAGE NEELABATI WADDE ORAON PAKHANJUR SONG

अयो अबा सान्गे दूलर तिरा ओत पीयर तिरा ओत गा पूप्ले खा...कुडुक भाषा में गीत

ग्राम-भुरभुसी, पंचायत-जबेली, विकासखंड-कोयलीबेडा, जिला-उत्तर बस्तर कांकेर (छत्तीसगढ़) से निर्मला, बेरनादी टोप्पो और जयमंत एक्का उरांव आदिवासियों की कुडुक भाषा में एक गीत सुना रहे हैं:
अयो अबा सान्गे दूलर तिरा ओत पीयर तिरा ओत गा पूप्ले खा-
इना सैली कालो तो भूले रत कालो निला सैली कालो तो भूले रत कालो-
भैया-बहिन सान्गे दूलर तिरा ओत पीयर तिरा ओत गा पूप्ले खा-
इना सैली कालो तो भूले रत कालोत निला सैली कालोत तो भूले रत कालो
संगी साथी सान्गे दूलर तिरा ओत पीयर तिरा ओत गा पूप्ले खा...

Posted on: Sep 07, 2018. Tags: CG KANKER KOELIBEDA KUDUK ORAON SAPNA WATTI SONG

कोड़ा लो मै जोता लो मसरया मै बना लो...कुडुक खेती गीत-

ग्राम-गोरठी, पंचायत-जनावल, प्रखण्ड-चैनपुर, जिला-गुमला (झारखण्ड) से रीता कुजूर अपने सांथियो के सांथ खेती बड़ी से संबंधित एक गीत कुडुक भाषा में सुना रही हैं :
कोड़ा लो मै जोता लो मसरया मै बना लो-
मसरया में के गोटा जना-
हा मै रे मसरया में के गोटा जना मै-
हय कटा लो मै मेसा लो ना पानो मै जोकालो-
न पेरा रे जोके रा सालो रे मैना...

Posted on: Aug 19, 2018. Tags: GUMLA JHARKHAND KUDUK RITA KUJUR SONG

कहाँ से आवय सारो रे समा...कुडुक विवाह गीत

ग्राम-फुलवारटोला, तहसील-चैनपुर, जिला-गुमला (झारखण्ड) से गोबरिला मिंज, कोमोलेना खलखो और रजनी तिग्गा कुडुक भाषा में एक गीत सुना रहे हैं:
कहाँ से आवय सारो रे समा-
आदे कहा से आवय भईया मोर-
ओ राका कहाँ से आवय भईया मोरा-
पुरबे से आवे भईया मोरा-
और पश्चमी से आवे मोर भईया-
कहा से आले सारो रे समा...

Posted on: Aug 16, 2018. Tags: GUMLA JHARKHAND KUDUK SONG

View Older Reports »