दूध दही खाकर शरिरिया बनाऊ लगली...कविता-

ग्राम-लालसापुर, पोस्ट-मझगयें, जिला-चंदौली (उत्तर प्रदेश) से कृष्णमूर्ति यादव एक कविता सुना रहे हैं:
दूध दही खाकर शरिरिया बनाऊ लगली-
छोटकन के सवतिया थोडा बड़कन के हडकाव लगली-
स्कूल में बस्ता मैडम जी के बतिया छोड़ा-
वो गुरु जी के पढावे लगली-
पन्ना पे लिखा गाइल बा...

Posted on: Feb 14, 2020. Tags: CHANDAULI KRISHNAMURTI YADAV POEM UP