वनांचल स्वर : सेम के पत्ते से चर्म रोग का घरेलू उपचार-

ग्राम-रौचन, पोस्ट-राजा नवागाँव, तहसील-बोडला, जिला-कबीरधाम (छत्तीसगढ़) से खेलनराम साहू चर्म रोग का एक घरेलू उपचार बता रहे हैं, चर्म रोग साफ सफाई पर ध्यान नही देने, ब्लड इन्फेक्सन, दूषित पानी में नहाने से हो जाता है, इसमें दाद, खुजली, फोड़े आदि आते हैं, ऐसी स्थिति में घरो में लगाई जाने वाली सब्जी सेमी या सेम के पत्ते को लगातार पांच दिन तक मसलकर लगाने से लाभ मिल सकता है, ये बारिश के मौशम में आसानी से मिल जाता है, इस तरह हमारे आसपास पाए जाने वाले वनस्पतियों से हम हमारे बहुत से रोगों का निदान कर सकते हैं, इससे पैसे की भी बचत होती है. अधिक जानकारी के लिए संपर्क कर सकते हैं : संपर्क नंबर@7566279950.

Posted on: Aug 12, 2018. Tags: HEALTH KABIRDHAM CHHATTISGARH KHELANRAM SAHU VANANCHAL SWARA

वनांचल स्वर : पीपल के पत्ते और मिश्री से पीलिया बीमारी का घरेलू उपचार-

ग्राम-रौचन, पोस्ट-राजा नवागाँव, तहसील-बोडला, जिला-कबीरधाम (छत्तीसगढ़) से खेलनराम साहू बता रहे हैं, आज के समय में बिगड़ते संतुलन और भोज्य पदार्थो में खाद और दवाओं के उपयोग के कारण कई बीमारियां हो जाती है, जिसमे से एक है, पीलिया, इस बीमारी में शरीर पीला पड़ने लगता है और शरीर में खून की कमी हो जाती है, कमजोरी आती है, इस समस्या से बचने के लिए पीपल के 5 पत्ते लेकर मिश्री के सांथ पीसकर दवा बनाकर दिन में दो बार पांच दिन तक लगातार सेवन करने से आराम मिल सकता है, अधिक जानकारी कर लिए दिए नंबर पर संपर्क कर सकते हैं : संपर्क नंबर@7566279950.

Posted on: Nov 30, 2017. Tags: HEALTH KABIRDHAM CHHATTISGARH KHELANRAM SAHU VANANCHAL SWARA