ऐ हो विधाता कईसन रचेला नसीब के...भक्ति गीत

ग्राम-अमृतपुर, तहसील-नानपारा, जिला-बहराइच (उत्तरप्रदेश) से केदारनाथ कुशवाहा एक भक्ति गीत सुना रहे है :
ऐ हो विधाता कईसन रचेला नसीब के-
अँखियाँ में लोर भरला हरदम गरीब के-
केकरा से कही भगवन दिलवा के बात हो-
देखवे में काटे कटे सुन दिन-रात हो-
केहू नहीं जानत-बूझे ये दुनिया अजीब के-
केहू नहीं बूझे भगवन दिल के मजबूरी-
आशही बीते दिनवा करत जी-हजूरी-
रउवे बताई अब हम कहाँ जाईं-
कह शिवम्-अंकित अब लजिया बचाई-
ए हो विधाता कईसन रचेला नसीब के...

Posted on: Feb 20, 2019. Tags: KEDARNATH KUSHWAHA

माँ तेरे दर्शन को मेरे अँखियाँ तरस रही हैं...भक्ति गीत -

ग्राम पुरेना लवकरिया, जिला-बहराइच,(उत्तर प्रदेश) से केदारनाथ कुशवाहा एक गीत सुना रहे हैं:
माँ तेरे दर्शन को मेरे अँखियाँ तरस रही हैं-
दे दे तू मुझको दर्शन ओ माँ-
माँ तेरे दर्शन को मेरी अँखियाँ तरस रही हैं-
दे दे तू दर्शन माँ ओ दे दे तू दर्शन माँ-
तुझे देखने का दिल करता है-
माँ तेरा कितना गुण गाऊं-
मेरे जीवन के लिए कम हैं-
माँ ओ माँ ओ माँ...

Posted on: Jan 09, 2018. Tags: KEDARNATH KUSHWAHA

गाँव वालों ने मिट्टी की एक चिमनी बनायी है, इस चिमनी की आग में कपड़े गर्म कर के पहन रहे हैं...

ग्राम-लवकईया पुरैना,जिला-बहराइच (उत्तर प्रदेश) से केदारनाथ कुशवाहा जी बता रहे हैं उनके गाँव में पारा सामान्य से नीचे पहुँच गया है 01 जनवरी से लेकर धूप नहीं निकली है वैज्ञानिकों के अनुसार 4.9 डिग्री सेल्सियस तापमान घटा है जिससे गाँव में कड़ाके की ठण्ड पड़ रही है लोग बहुत परेशान हो रहे हैं सभी गाँव वालों ने मिलकर मिट्टी की एक चिमनी बनायीं है इस चिमनी की आग में कपड़े गर्म करके ग्रामीण पहन रहे हैं और ठण्ड से राहत पाने का प्रयत्न कर रहे हैं,वो बता रहे हैं ठण्ड के कारण लोगो का घर से निकलना मुश्किल हो गया है,पाला पड़ रहा है और 7 जनवरी 2017 तक क्षेत्र के सभी प्राथमिक विद्यालयों को बंद कर दिया गया है:कुशवाहा@8933912743|

Posted on: Jan 06, 2018. Tags: KEDARNATH KUSHWAHA

माँ तेरे चरणों की धूल मैं कैसे भूलूं....माँ पर गीत -

ग्राम-लोवकरिया, ब्लाक-मिहिंपुरवा, जिला-बहराइच (उत्तरप्रदेश) से केदारनाथ कुशवाह माता पिता के आदर सम्मान के स्वरूप एक गीत सुना रहे है:
माँ तेरे चरणों की धूल मैं कैसे भूलूं-
जब तक मैं जिन्दा रहूँ-
तेरे चरण के धूल मैं सहूँ-
माँ तेरी ममता को-
कैसे मैं धूल कहूँ-
माता पिता की सेवा में हरदम मैं रहूँ...

Posted on: Dec 27, 2017. Tags: KEDARNATH KUSHWAHA

वनांचल स्वर : गन्ने का रस और मूली से पीलिया का उपचार -

ग्राम-पुरेना, अमृतपुर लोवकरिया, ब्लाक-मिहिंपुरवा, तहसील-मोतीपुर, थाना-मोतिहार जिला-बहराइच (उत्तरप्रदेश) से केदारनाथ कुशवाह आज गन्ने के रस से पीलिया या जॉन्डिस रोग के इलाज के बारे में जानकारी दे रहे है. वे बता रहे हैं कि सुबह शाम 2 गिलास गन्ने का रस 20 दिन तक पीएं 20 दिन पीने के बाद पीलिया रोग में आराम मिलेगा और बताया जाता है कि गन्ने का रस और मूली दोनों को एक साथ 2 सप्ताह तक सुबह शाम लेने से यह और भी जल्द फायदा करता है. पीलिया के लिए मूली और गन्ने का रस बहुत ही लाभकारी होता है. वे आगे बता रहे हैं कि ये प्रयोग की हुई विधि है कृपया आप लोग जरुर इसका प्रयोग करें: केदारनाथ कुशवाह@8933912743.

Posted on: Dec 24, 2017. Tags: KEDARNATH KUSHWAHA VANANCHAL SWARA

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download