जबसे अऐल्वा तू गवनवा, बुढा तनअवा मारेली...गीत

ग्राम-लोकरिया, तहसील-नानपाडा जिला-बहराइच, (उत्तरप्रदेश) से केदारनाथ कुशवाह एक गीत सुना रहे है:-
जबसे अऐल्वा तू गवनवा, बुढा तनअवा मारेली-
की हम करी चोकछ हाली, देरनिया से नही भर पाए पानी-
की हम लेकर जाये खनवा, की कहे ये बुढ घय आये अनवा-
जबसे अऐल्वा तू गवनवा, बुढा तनअवा मारेली...

Posted on: Mar 31, 2017. Tags: KEDARNATH KUSHWAHA

माई से बढ़के ये दुनिया में नबाके केहू दूजा...भक्ति गीत

ग्राम-अमृतपुर, तहसील-नानपारा, जिला-बहराइच (उत्तरप्रदेश) से केदारनाथ कुशवाहा एक भक्ति गीत सुना रहे है:
माई से बढ़के ये दुनिया में नबाके केहू दूजा-
ये भयवा कोले तू माई के रे पूजा ये भयवा-
माई से शुरू बा जिन्दगी मैया से खतम हो जाई-
मइये ते हसावेली, मइये तो रुलावेली-
जे नाई समझ पाई, ओकरा लई जावा बा-
चारो धाम तू का जैबो, माँ-बाप के चरण मा सब कुछ अधूरा बा...

Posted on: Mar 02, 2017. Tags: KEDARNATH KUSHWAHA

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download