हे ते नाना मोर नानो रे, नानी न मोर नान हो...गोंडी पूजा गीत-

ग्राम-तोडहुर, तहसील-पखांजूर, जिला-उत्तर बस्तर कांकेर (छत्तीसगढ़) से कविता कोरचा, सुस्मय कतलामी और सुंदरी दुग्गा एक गोंडी गीत सुना रहे हैं ये गीत पूजा के समय गाया जाता है :
हे ते नाना मोर नानो रे, नानी न मोर नान हो-
ती नाना मोर नानो रे, न नीना मोर नान-
दंतेश्वरी दाई ला काईन पूजा लागे हो-
दंतेश्वरी दाई ला दया दरकर लागे हो-
दंतेश्वरी दाई ला जोड़ा नरियर लागे-
सारुक लागे हो, साथ में तो नारियल दारु सेवा कारूक लागे...

Posted on: Aug 26, 2018. Tags: CHHATTISGARH GONDI SONG KANKER KAVITA KORCHA

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download