दिल में हो सीजीनेट बुल्टू रेडियो तो कोई खास कैसे होगा...कविता

ग्राम-सल्लेया कला, पोस्ट-सावरी बाजार,तहसील-मोहखेड़,जिला-छिन्दवाडा (मध्यप्रदेश ) से कविता धुर्वे एक कविता सुना रही है:
दिल में हो सी जी नेट बुल्टू रेडियो तो कोई और खास कैसे होगा – यादो में आपके सिवा कोई पास कैसे होगा-
हिचकिया कहती है साथियों आप याद करते हो-
पर बुल्टू रेडियो में बोलेंगे नहीं तो अहसास कैसे होगा...

Posted on: Mar 30, 2017. Tags: KAVITA DHURVE

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download