जहां पहाड़ पर्वत निर्जीव वस्तुओ की पूजा होती हो...कविता-

ग्राम-तमनार, जिला-रायगढ़ (छत्तीसगढ़) से कन्हैयालाल पड़ियारी एक कविता सुना रहे हैं :
जहां पहाड़ पर्वत निर्जीव वस्तुओ की पूजा होती हो-
उस देश से महान और कौन सा देश हो सकता है-
जिस देश में नदी नाला की पूजा होती हो-
उस देश जैसा और कौन देश हो सकता है-
जिस देश में पेड़ पौधों की पूजा होती हो-
उस देश जैसा धर्मात्मा देश और कौन देश हो सकता है...

Posted on: Apr 15, 2019. Tags: CG KANHIAYALAL PADIYARI POEM RAIGARH