घमंड करने से होता है नुकसान...कहानी -

एक किसान की दो लड़की थी ,बड़ी बेटी चुरकी तथा छोटी बेटी घुरकी। एक दिन बड़ी बेटी बोली मामा के यहाँ जाना है, किसान ने कहा जाओ लड़की जाने लगी, चलते चलते एक भैस मिली जिसने कहा मुझे चारा दे दो लेकिन उसने नहीं दिया और चली गयी अपने मामा के यहाँ पहुची तो वहां पर उसे सभी ने अनदेखा कर दिया वह वापस घर चली आई. इसके बाद छोटी लड़की गयी. भैस ने उससे भी ऐसे ही कहा तो उसने भैस को चारा दिया और अपने मामा के यहाँ पहुची तो सभी ने उसे गले लगाया और खूब खिलाया- पिलाया कुछ दिनों में बाद वापस घर आई तो सभी से उसने बताया लेकिन बड़ी बहन को अच्छा नहीं लगा क्योकि उसके साथ ऐसा नहीं हुआ था इसलिए लोग कहते हैं कि कभी भी घमंड नहीं करना चाहिए| कन्हैयालाल पडियारी@9981622548

Posted on: May 25, 2017. Tags: KANHAIYALAL PADHIYARI

एकता की कहानी...

ग्राम- तमनार, जिला-रायगढ़ (छत्तीसगढ़) से कन्हैयालाल पडियारी अपने नाती से एक कहानी सुन रहे हैं जो कक्षा दूसरी का छात्र है वह बता रहा है – एक किसान था जिसके 5 बेटे थे जो हमेशा आपस में लड़ते झगड़ते रहते थे. एक दिन किसान ने पाँचों बेटों को बुलाया और एक-एक डंडा सभी को पकड़ने को कहा और कहा इसको तोड़ो तो सभी ने अपने डंडे तोड़ दिये। इसके बाद बड़े बेटे को बोला सभी डंडों को एक साथ बाँध दो और फिर तोड़ने के लिए कहा लेकिन कोई नहीं तोड़ पाया इसलिए किसान ने कहा कि सभी मिल जुलकर रहोगे तो कभी हानि नहीं पहुंचेगी पर अलग-अलग रहोगे तो तुम्हारे विरोधी एक-एक कर तुम सभी को हरा देंगे, एकता में शक्ति है | कन्हैयालाल पडियारी@9981622548

Posted on: May 21, 2017. Tags: KANHAIYALAL PADHIYARI

हमारे पिछड़े इलाके के सरकारी कालेज में 496 विद्यार्थयों और तीन कोर्स के लिए सिर्फ 4 शिक्षक...

ग्राम-तमनार, जिला-रायगढ़ (छत्तीसगढ़) से कन्हैयालाल पडियारी आज स्थानीय शासकीय कॉलेज में भ्रमण कर रहे हैं वहां उन्होंने पाया कि उनके यहाँ कॉलेज में तीन कोर्सेस है B.A, B.Com, B.Sc. और यहाँ करीब 496 बच्चे है लेकिन यहाँ पर मात्र 4 शिक्षक है जिसके कारण ढंग से पढाई नहीं हो पा रही है और विद्यार्थियों को बहुत परेशानी हो रही है प्राचार्य भी बहुत परेशान है और अधिक शिक्षकों के लिये अधिकारियों और स्थानीय नेताओं से कई बार अनुरोध कर चुके है पर कोई ध्यान नहीं दे रहे है इसलिए वे सीजीनेट सुनने वाले साथियों से अपील कर रहे है कि कृपया स्थानीय विधायक@9303007906 को फोन कर दबाव बनाकर इस पिछड़े इलाके के विद्यार्थियों की मदद करें. कन्हैयालाल@9981622548

Posted on: Apr 19, 2017. Tags: KANHAIYALAL PADHIYARI

मैंने देखा है तपता हुआ सूरज को...कविता

ग्राम-तमनार, जिला-रायगढ़ (छत्तीसगढ़) से कन्हैयालाल पडियारी एक कविता सुना रहे हैं :
मैंने देखा है तपता हुआ सूरज को-
मैंने देखा है समन्दर से उठते भाप को-
मैंने देखा ठिठुरते शिशिर मास को-
मैंने देखा है बरसते हुए बरसात को-
ये कुदरत का खेल है-
इसमें बहुत बड़ा मेल है-
यहाँ पर इनका उपकार है,
हर जीव-जन्तु का पुकार है-
जग में जब एक ही ऋतु होता
सुख संपदा का अभाव होता-
ना कोई बड़ा ना कोई छोटा होता...

Posted on: Apr 09, 2017. Tags: KANHAIYALAL PADHIYARI

नित-नित जीना, नित-नित मरना सबकी यही कहानी है...कविता

ग्राम-तमनार, जिला-रायगढ़, (छत्तीसगढ़) से कन्हैयालाल पडियारी एक कविता सुना रहे हैं:
नित-नित जीना, नित-नित मरना सबकी यही कहानी है-
ढोल मृदंग से सूर्य निकलता मै भी कभी अभिमानी था-
अब देखो मेरा बुरा हाल रोज तुम्ही से खूब पिटता हूँ-
पिटा-पिटाकर भी तुमसे तुम्हारा मन बहलाता हूँ-
तुम गाते हो सुर लगाकर मई भीतर-भीतर रोता हूँ-
मै भी था कभी तुम जैसा जिन्दा-
अब तो ढोल मृदंग कहलाता हूँ-
करो न गुमान तुम भी मुझ जैसा...

Posted on: Apr 07, 2017. Tags: KANHAIYALAL PADHIYARI

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download