5.6.31 Welcome to CGNet Swara

हम लोगों को 8 माह से विधवा पेंशन नहीं मिल रहा अधिकारी को बोलते हैं पर वह मदद नहीं करता...

ग्राम पंचायत-गुम्माटोला, विकासखंड-मरवाही, जिला-बिलासपुर (छत्तीसगढ़) से सीजीनेट वॉइसबुक यात्रा से कन्हैयालाल केवट के साथ में आज गाँव की बुज़ुर्ग महिलाएं रामकली, सुमित्रा ,रामबाई, शांतिबाई है जो बता रही है कि 8 से 9 माह हो चुका है उनको विधवा पेंशन नहीं मिला है कई बार सरपंच को बोला गया लेकिन आज तक हम महिलाओं को पेंशन नहीं दिया जा रहा है इसलिए वे सीजीनेट सुनने वाले साथियों से मदद की अपील कर रहे हैं कि इन कृपया अधिकारियों को फोन करके दबाव बनाये जिससे हम महिलाओं का विधवा पेंशन मिल सके| C.E.O.@7693915855. ग्रामीण संपर्क@7694031224, कन्हैयालाल केवट@8225027272.

Posted on: Jun 21, 2017. Tags: KANHAIYALAL KEWAT

आगे के दिन लागे बड़ा मन सुहावन...सुवा गीत

पारा-कमली कला, ग्राम पंचायत-पंडरीपानी विकासखंड-गौरेला, जिला-बिलासपुर (छत्तीसगढ़) से समरतिया एक सुवा गीत सुना रहे हैं :
आगे के दिन लागे बड़ा मन सुहावन-
मोर सुवान रे स्वागत करथन तुम्हार-
हांथ मा रख के झंडा तिरंगा-
मोर सुवाना रे भारत ला करिथन आजाद...

Posted on: Jun 21, 2017. Tags: KANHAIYALAL KEWAT

हमारे मोहल्ले में हैंडपंप नहीं है, दूर से नाले का पानी लाकर पीते हैं बहुत सालों से अनुरोध कर रहे हैं...

ग्राम पंचायत-गुम्माटोला, विकासखंड-मरवाही, जिला-बिलासपुर (छत्तीसगढ़) से कन्हैयालाल केवट साथ में गाँव के फलन सिंह, सीमा बाई, कुवर शाह मरावी, कुंती बाई, बृजलाल है जो बता रहे है कि इनके गाँव गुम्माटोला वार्ड 4 में हैंडपंप नहीं है जिसके कारण 25 घर के लोगों को दूर नाले से पानी लेने जाना पड़ता है इसके लिए सचिव, सरपंच से भी कहा गया लेकिन कोई भी कार्रवाई नहीं किये इसलिए वे सीजीनेट सुनने वाले साथियों से मदद की अपील कर रहे हैं कि इस समस्या के लिए अधिकारियों के फोन पर दबाव बनाये ताकि इनके यहाँ पानी की सुविधा हो सके | सचिव@9694507581, P.H.E.@9425253031. ग्रामीण साथी का संपर्क@9174975834, कन्हैयालाल केवट@8225027272.

Posted on: Jun 21, 2017. Tags: KANHAIYALAL KEWAT

धरती दाई तोर सेवा करो रे...छत्तीसगढ़ी गीत

ग्राम पंचायत-साल्हेघोरी, विकासखंड-गौरेला, जिला-बिलासपुर (छत्तीसगढ़) से रामबचन एक छत्तीसगढ़ी गीत सुना रहे हैं :
धरती दाई तोर सेवा करो रे-
रातो बिहानियाँ दाई पूजा करो मै तोर-
संझा बिहनिया दाई आरती लगाओं रे-
ऐ धरती दाई ज्ञान मोला तै देना रे-
संझा बिहनिया दाई सेवा करो रे...

Posted on: Jun 20, 2017. Tags: KANHAIYALAL KEWAT

एक कहानी के अनुसार एक बारात को जादुई ताकत से भस्म कर दिया था इसलिए हमारे गाँव का नाम भस्कुरा पड़ा...

ग्राम-भस्कुरा, विकासखंड-मरवाही, जिला-बिलासपुर (छत्तीसगढ़) से सीजीनेट यात्रा के साथी कन्हैयालाल केवट गांव के बुजुर्ग अमृतलाल यादव, श्यामलाल, सुन्दरलाल, दुर्जन सिंह, विक्रम सिंह रघुवर के साथ हैं, ये उन्हें बता रहे हैं कि इनके गाँव का नाम भस्कुरा कैसे पड़ा. प्रचलित कहानी के अनुसार प्राचीन समय में गांव में एक शादी हुई थी, बारात आयी हुई थी और इस शादी में दुर्भाग्य से बारात वाले और घर वालो में कुछ विवाद की स्थिति उत्पन्न हुई तब आक्रोश में उस पूरे बारात को घर वाले या गांव के किसी व्यक्ति ने किसी जादुई ताकत से भस्म कर दिया तब से इस गांव का नाम भस्कुरा पड़ा इसके प्रमाण आज भी इस गांव में देखने को मिलता है आज भी इसके अवशेष इस गांव में है |

Posted on: Jun 19, 2017. Tags: KANHAIYALAL KEWAT

« View Newer Reports

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download