5.6.31 Welcome to CGNet Swara

शंकर जी के मंदिर जाबे गौर मैया देही वरदान रानी के सोहगवा...

ग्राम-छुलकारी, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से कन्हैयालाल केवट ग्रामवासी महिलाओं से एक सुहगवा गीत सुन रहे हैं:
शंकर जी के मंदिर जाबे गौरा मैया देही वरदान-

रानी के सोहगवा-
पहले मागब अपने मांग के सेदुरा-
सेंदुरा अमर हो जाए –
दूसरा मागब अपने माथे की बिंदिया-
बिंदिया अमर हो जाए-
शंकर जी के मंदिर जाबे गौरा मैया देही वरदान
रानी के सोहगवा... कन्हैया लाल केवट@8225027272

Posted on: Sep 02, 2017. Tags: KANHAIYALAL KEWAT

जगह-जगह तोर ज्योति जले हे जय हो गजानन स्वामी...भजन गीत

ग्राम-छुल्कारी, जिला-अनूपपुर (मध्यप्रदेश) से कन्हैयालाल केवट अपने साथियों के सांथ एक भजन सुना रहे हैं :
जगह-जगह तोर ज्योति जले हे जय हो गजानन स्वामी-
चला चली पूजा करे ला मिल जुल के संगवारी-
माता तोर पार्वती पिता महादेवा-
लड्डूवन के भोग लगे संतकर देवा-
भादो के महिना तोर पूजा होय जय हो गजानन स्वामी-
पान चढ़े फुल चढ़े और चढ़े मेवा...

Posted on: Sep 01, 2017. Tags: KANHAIYALAL KEWAT

ये अंगा मेरी हूँ तुम्हार...कर्मा गीत

ग्राम-उमरखोही, विकासखंड-गौरेला, जिला-बिलासपुर (छत्तीसगढ़) से कन्हैयालाल केवट ग्रामीण महिला से एक कर्मा गीत सुन रहे हैं:
ये अंगा मेरी हूँ तुम्हार-

राधा में बसाये के लाकपुर मारे-
काला तोहे धनिया तोहे धन्या-
काला तो देहे गोना गोदरी-
आज रोये-रोये कान्हा के ध्यान-
तेरो धनि बस्याए के लाक पुर माँ रे-
ये अंगा मेरी हूँ तुम्हार...

Posted on: Aug 23, 2017. Tags: KANHAIYALAL KEWAT

हाथी आया झूम के धरती माँ को चूमके...बाल कविता

ग्राम-कठौतिया, पंचायत-ठेंगाडांड, ब्लाक-गोरेला, जिला- बिलासपुर (छत्तीसगढ़) से कन्हैयालाल केवट कुछ बच्चियों से कविता सुन रहे हैं :
हाथी आया झूम के धरती माँ को चूमके-
टाँगे इसकी मोटी है आँखें इसकी छोटी हैं-
गन्ने पत्ती खाती है लम्बी सूंड हिलती है-
सूप जैसे इसके कान देखो-देखो इनकी शान...

Posted on: Aug 15, 2017. Tags: KANHAIYALAL KEWAT

हरदी शहर के मोर मरदी न बेटी ओ...सुवा गीत

ग्राम पंचायत-पंडरीपानी, मोहल्ला-खमलीकला, विकासखंड-गौरेला, जिला-बिलासपुर (छत्तीसगढ़) से प्रेमवती, जयमतिया, हेमंत्री, समरती, उर्मिला एक सुवा गीत सुना रहे हैं :
हरदी शहर के मोर मरदी न बेटी ओ-
हरदी शहर चले जाथे चन्दन जू खड़े रहना-
हरदी शहर के मोर मरदी न बेटी ओ-
हरदी शहर के मोर बेटी मथुरा शहर चले जाए-
घर-घर तुलसी लगाये चन्दन जूट खड़े रहना...

Posted on: Aug 06, 2017. Tags: KANHAIYALAL KEWAT

« View Newer Reports

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download