बन्ना के लगा शहर में ब्याह रुपैया पूजत नहीं हो...बन्ना विवाह गीत

जिला-पन्ना (मध्यप्रदेश) से कामता प्रसाद राजपूत एक दूल्हा बिदाई गीत सुना रहे है :
बन्ना के लगा शहर में ब्याह रुपैया पूजत नहीं रे-
रुपैया पूजत बुइहैं रे रुपैया पूजत नहीं रे-
बन्ना के दादा है कंजूस तिजोरी खोलत नाही रे-
बन्ना के दादी है दिलदार तिजोरी खोल दिखावे रे-
बन्ना के पापा है कंजूस तिजोरी खोलत नाही रे-
बन्ना के मम्मी है दिलदार तिजोरी खोल दिखावे रे-
बन्ना की चाची है दिलदार तिजोरी खोल दिखावे रे...

Posted on: Jun 16, 2017. Tags: KAMTA PRASAD RAJPUT