हिन्द देश के निवासी सभी जन एक हैं...देश भक्ति गीत-

जिला-जशपुर (छत्तीसगढ़) से शशीकला तिग्गा देश भक्ति गीत सुना रहें हैं:
हिन्द देश के निवासी सभी जन एक हैं-
रंग रूप भेष भाषा चाहे अनेक हैं-
बेला गुलाब जुही चम्पा चमेली-
प्यारे प्यारे फुल गुंथे माला में एक हैं-
हिन्द देश के निवासी सभी जन एक हैं...(RM)

Posted on: Jan 26, 2021. Tags: BHAKTI SONG

पीड़ितों का रजिस्टर: पिता जी को नक्सलियों ने जान से मार दिया,गाँव छोड़कर जान बचाकर भागे हैं

ब्लाक-अन्तःगढ़, जिला-कांकेर, (छत्तीसगढ़) से महतु राम दर्रो बता रहे हैं कि उनके पिता जी को नक्सलियों ने सन 2008 घर में आकर जान से मार दिए | उन्हें किसी भी तरह का सरकारी योजनाओं का लाभ नही मिला | वे सरकार से मदद की मांग कर रहे हैं कि उन्हें योजनाओं का लाभ मिले | वे अभी अन्तःगढ़ में रहकर मजदूरी करके अपना जीवन चला रहे हैं|

Posted on: Jan 25, 2021. Tags: CG KANKER VICTIM REGISTER

ये मेरे वतन के लोगो तुम खूब लगा लो नारा...देशभक्ति गीत-

जिला-ख़ुशीनगर (उतरप्रदेश) से सुकई कुशवाह देशभक्ति गीत सुना रहे है:
ये मेरे वतन के लोगो तुम खूब लगा लो नारा-
ये शुभ दिन है हम सबका लहरा लो तिरंगा प्यारा-
पर मत भूलो सीमा पर वीरो ने है प्राण गवाए-
कुछ याद उन्हें भी कर लो कुछ याद उन्हें भी कर लो-
जो लौट के घर न आए जो लौट के घर न आए...(RM)

Posted on: Jan 25, 2021. Tags: BHAKTI SONG

पीड़ितों का रजिस्टर: मै पहले गाँव का मुखिया था, नक्सलियों के आतंक से डर परिवार के साथ गाँव छोड़ दिए

श्याम नगर अन्तःगढ़, ब्लाक-अन्तःगढ़, जिला-कांकेर, (छत्तीसगढ़) मंगल सिंह सोरी बता रहे हैं कि वे अपने गाँव के मुखिया थे, नक्सलियों को भी अपना योगदान दे रहे थे जैसे उन्हें खाना, चावल दाल, सब्जी आदि| फिर नक्सलियों ने उन्हें बहुत परेशान कर रहे थे| इसलिए ये साथी नक्सलियों से आहत होकर अपने परिवार के साथ अन्तःगढ़ में आकार रहने लगे उन्हें शासन के तरफ से अब कोई मदद नही मिला| वे सरकार से मदद की मांग करते हैं कि उन्हें कोई दैनिक रोजगार दे जिससे वे अपने परिवार का भरण-पोषण कर सकें|

Posted on: Jan 25, 2021. Tags: CG KANKER VICTIM REGISTER

पीड़ितों का रजिस्टर: मेरा भाई नक्सली था आत्मसमर्पण किया, सरकार ने पैसे दिया नौकरी नही...

श्याम नगर अन्तःगढ़, ब्लाक-अन्तःगढ़, जिला-कांकेर, (छत्तीसगढ़) से रजमन कचलाम बता रहे हैं की उनके बड़े भाई पहले नक्सली संगठन में थे, और बाद में उसने अपने आप को पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया | उसके बाद नक्सलियों ने सन 2016 में घर में आकर जान से मार दिए | पीड़ित परिवार को शासन के तरफ से आठ लाख रूपये मिला था | और नौकरी देंगे कहे थे लेकिन अब तक नौकरी नही दिया गया है| नक्सलियों के डर ले कारण वे अब अन्तःगढ़ में अपने पूरे परिवार के साथ आकर रहा रहे हैं और मजदूरी करके अपना जीवन चला रहे हैं|

Posted on: Jan 25, 2021. Tags: CG KANKER VICTIM REGISTER

View Older Reports »